Joe Root: India-England series shows test cricket is alive and moving forward
Joe Root (Getty Images)

साउथम्पटन टेस्ट में भारत को 60 रनों से हराकर इंग्लैंड टीम ने पांच मैचों की टेस्ट सीरीज पर 3-1 से कब्जा कर लिया है। सीरीज भले ही इंग्लैंड ने जीत ली हो लेकिन भारतीय टीम ने हर मैच अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था। चारों ही टेस्ट मैचों में दोनों टीमों के बीच कड़ा मुकाबला रहा और फैंस को अच्छा टेस्ट क्रिकेट देखने को मिला। रूट का कहना है इस तरह की टेस्ट सीरीज ये दर्शाती है टेस्ट क्रिकेट आज भी जिंदा है।

चौथे टेस्ट मैच के बाद मीडिया से बात करते हुए रूट ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि ये टेस्ट क्रिकेट के लिए काफी अच्छे संकेत हैं। ये दर्शाता है कि टेस्ट क्रिकेट अब भी जिंदा है और आगे बढ़ रहा है ये खेल का शीर्ष है। भारत को श्रेय जाता है, उन्होंने इस मैच में ही नहीं बल्कि पूरी सीरीज में कुछ शानदार क्रिकेट खेला। स्वदेश में लोगों को देखकर खुशी होगी कि पहले और इस मैच में उन्होंने कितनी अच्छी चुनौती दी, कैसे मैच में उतार चढ़ाव आए।’’

रूट ने कहा कि गेंदबाजी में इतने सारे विकल्प होने के कारण उन्हें जीत का भरोसा था। इंग्लैंड ने दुनिया की नंबर एक टीम भारत को दोनों पारियों में 273 और 184 रन पर आउट करके जीत दर्ज की। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे महसूस हुआ कि मेरे पास बेहद ज्यादा विकल्प हैं और अटैक में वैरिएशन भी है। इस मैच में गेंद दोनों ओर स्पिन कराने का विकल्प था, बाएं हाथ का एंगल और तीन शानदार सीम गेंदबाज जो सभी अलग अलग चीजें कर सकते हैं।’’

इंग्लैंड के कप्तान ने साथ ही कहा कि उनकी टीम 245 रन का लक्ष्य देने के बाद जीत को लेकर आश्वस्त थी। रूट ने कहा, ‘‘जब मैं बल्लेबाजी कर रहा था तो मैंने सोचा कि 190 अच्छा स्कोर रहेगा। लेकिन हम 230-240 रन से अधिक बनाने में सफल रहे जो शानदार प्रयास था और ये काफी मुश्किल लक्ष्य साबित हुआ। मुझे पता है कि बातें हो रही थी कि 275 अच्छा लक्ष्य रहेगा लेकिन मैं आश्वस्त था कि अगर आज की तरह हम अपनी क्षमता के अनुसार गेंदबाजी करते हैं तो हमारे पास जीत दर्ज करने के लिए पर्याप्त रन हैं।’’

(पीटीआई के इनपुट के साथ)