Joe Root: Series against New Zealand in 2015 made us believe we might be able to do something special in ODI
जो रूट (Twitter)

न्यूजीलैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में आयोजित फाइनल मैच में जीत हासिल कर पहला विश्व कप खिताब जीतने वाली इंग्लैंड टीम का सफर चार साल पहले कीवी टीम के खिलाफ सीरीज से साथ ही शुरू हुआ था।

ऑस्ट्रेलिया में आयोजित हुए 2015 विश्व कप के ग्रुप स्टेज से बाहर होने के बाद इंग्लैंड टीम ने वनडे फॉर्मेट में अपने खेल को सुधारने पर जोर दिया। जिसकी शुरुआत न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज से हुई। पांच मैचों की इस वनडे सीरीज में मेजबान टीम ने 3-2 से जीत हासिल की। सीरीज के लगभग हर मैच में इंग्लैंड ने 300 के करीब स्कोर बनाया जो कि राहत की बात थी।

इंग्लैंड के शीर्ष क्रम बल्लेबाज जो रूट ने कहा कि उस सीरीज से बाद से ही खिलाड़ियों को विश्वास होने लगा कि वो वनडे मे कुछ खास कर सकते हैं। किया ओवल मैदान में विश्व कप जीत के जश्न के दौरान रूट ने कहा, “जिस तरह से हमने उस सीरीज में प्रदर्शन किया, जिस तह मॉर्ग्स (इयोन मोर्गन) ने योजना बनाई और हमें अपने आपको साबित करने का मौका दिया।”

हमारा क्रिकेट के नियमों पर कोई नियंत्रण नहीं: इयोन मोर्गन

रूट ने आगे कहा, “और खिलाड़ियों को ऐसा करते देख और स्थिति के हिसाब से खुद को ढालता देखकर लगा कि हम ऐसा करने के योग्य हैं। लेकिन जाहिर है कि वहां से रास्ता काफी लंबा था और हमें बतौर टीम लगातार सुधार कर आगे बढ़ना था। पिछले चार साल का ये सफर मजेदार रहा।”