Joe Root: We’ve got to make sure that we make it very difficult for Steve Smith
स्टीव स्मिथ, जो रूट (Getty file photo)

एशेज सीरीज के पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के प्लेयर ऑफ दे मैच रहे स्टीव स्मिथ इंग्लैंड टीम की सबसे बड़ी परेशानी बन गए हैं। अपनी अलग बल्लेबाजी शैली के लिए मशहूर स्मिथ को रोकने में इंग्लिश गेंदबाज अब तक असफल नजर आए हैं। स्मिथ ने एजबेस्टन टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जड़ा और ऑस्ट्रेलिया को 251 रन से बड़ी जीत दिलाई।

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट से जब स्मिथ के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनकी टीम इस ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी को आउट करने के तरीके ढूंढती रहेगी और कोशिश यही होगी कि स्मिथ के लिए मुश्किलें खड़ी की जाएं। उन्होंने कहा, “लॉर्ड्स (जहां सीरीज का दूसरा मैच खेला जाएगा) पहुंचते ही वो एक बार फिर वहीं से शुरुआत करना चाहेगी। हमें सुनिश्चित करना होगी कि हम उसके लिए चीजें मुश्किल बनाएं।”

स्मिथ को आउट करने की तरीका ढूंढने के अलावा भी इंग्लैंड टीम को दूसरे एशेज टेस्ट से पहले कई और बदलाव करने होंगे। पहले मैच में हार से मेजबान टीम निराश हैं लेकिन कप्तान रूट भावुक होकर कोई फैसला नहीं लेना चाहते। उन्होंने कहा, “हमें सुनिश्चित करना होगी कि जब हम अगला मैच खेलें तो चीजें स्पष्ट हों और हम कोई भी फैसला लेने के लिए जरूरत से ज्यादा भावुक ना हों।”

अलग स्तर पर है मैथ्यू वेड का खेल: रिकी पॉन्टिंग

इंग्लिश ऑलराउंडर मोइन अली, जिन्होंने पहले मैच में केवल तीन विकेट लिए और चार ही रन बनाए, पर गाज गिर सकती है। इस पर कप्तान ने कहा, “जब भी उसे कमतर समझा जाता है वो मजबूत वापसी करता है, खासकर कि इंग्लैंड के हालातों में।”

इंग्लैंड के सबसे सीनियर तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन के एजबेस्टन में गेंदबाजी ना कर पाने से भी मेजबान टीम को काफी नुकसान हुआ। रूट ने भी माना कि अगर एंडरसन गेंदबाजी कर रहे होते तो मैच का रुख बदल सकता था। उन्होंने कहा, “इन हालातों में अगर जिमी 15 ओवर करता तो पहली पारी में चीजें बहुत अलग होती।”

नाथन लियोन ने नाम किया छह विकेट हॉल, 251 रन से जीता ऑस्‍ट्रेलिया

बता दें कि एंडरसन ने मेडिकल टेस्ट पास कर लिया है और वो 14 अगस्त को होने वाले दूसरे टेस्ट में हिस्सा लेने के लिए फिट हैं।