इंग्लैंड (England) क्रिकेट टीम के प्रतिभाशाली युवा तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) का कहना है कि वो बे ओवल टेस्ट के दौरान उनके खिलाफ हुई नस्लीय टिप्पणियों से उबर चुके हैं। आर्चर का पूरा ध्यान अब न्यूजीलैंड (New Zealand) के खिलाफ शुक्रवार से होने वाले दूसरे टेस्ट मैच पर है।

डेलीमेल के कॉलम में इस इंग्लिश खिलाड़ी ने लिखा, “मैं इससे उबर चुका हूं। जो हुआ मैंने उसे मैदान पर ही छोड़ने का फैसला किया और मैं आगे बढ़ गया। मुझे क्या कहा गया था मैं उसकी गहराई में नहीं जाना चाहता लेकिन मैंने सुना है कि मुझसे क्या कहा गया।”

आर्चर ने लिखा, “अब मेरा एकमात्र लक्ष्य ये सुनिश्चित करना है कि हम इस सीरीज को सकारात्मक पड़ाव पर खत्म करें क्योंकि हम सभी पहले टेस्ट के नतीजे से खुश नहीं थे। लेकिन मेरा मानना है कि वो घटना काफी शर्मनाक थी। जब आप किसी दूसरे देश आते हैं, आपको ये आशंका रहती है कि फैंस आपके खिलाफ बोलेंगे।”

श्रीलंका-वेस्टइंडीज के बाद पाकिस्तान का दौरा करेगी दक्षिण अफ्रीकी टीम

उन्होंने आगे कहा, “अगर कोई मुझपर चिल्लाना चाहता है या ये कहना चाहता है कि मैं खराब गेंदबाजी कर रहा हूं तो ठीक है। मैं शायद उनसे सहमत ना हूं लेकिन वो ठीक है। ये दौरा करने वाले क्रिकेटर के अनुभव का हिस्सा है। लेकिन नस्लीय टिप्पणी सुनना, ये अलग मामला है। क्रिकेट तो क्या, जिंदगी में इसकी कोई जगह नहीं है। इसकी कोई जरूरत नहीं है।”

इंग्लैंड टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट (Joe Root) का भी कहना है कि आर्चर अब ठीक हैं और हैमिल्टन में होने वाले दूसरे टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करने के लिए तैयार हैं। बीबीसी को दिए बयान में रूट ने कहा, “वो इससे अच्छी तरह से निपट चुका है।”