© Getty Images
© Getty Images

अक्सर चोट से परेशान रहने वाले ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जॉन हेस्टिंग्स ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट और वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है। फेयफैक्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक 31 साल के इस गेंदबाज ने अपने इस निर्णय के बारे में इस हफ्ते की शुरुआत में विक्टोरिया के टीममेट को बताया था। हेस्टिंग्स अब विक्टोरिया की ओर से नहीं खेलेंगे लेकिन वह मेलबर्न स्टार्स के लिए बिग बैश लीग खेलते रहेंगे। उन्हें हाल ही में मेलबर्न स्टार्स का कप्तान बनाया गया है।

हेस्टिंग्स पिछले 12 महीनों के दौरान चोटों से खासे परेशान रहे थे। हाल ही में वह जेएलटी कप के दौरान अपनी कमर चोटिल करवा बैठे थे। अपनी गेंदों से अक्सर बल्लेबाजों को चौंकाने वाले हेस्टिंग्स निचले क्रम में उपयोगी बल्लेबाजी भी करते थे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए 29 वनडे मैच भी खेले और चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा रहे थे। उन्होंने वनडे क्रिकेट में छोटे से समय में खासी ख्याति प्राप्त की थी। साल 2016 में वह वनडे में दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे थे। हेस्टिंग्स ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 9 टी20 मैच भी खेले हैं।

[ये भी पढ़ें: अब एमएस धोनी की इस हरकत से टीम इंडिया को लगेगा 5 रन का जुर्माना!]

हेस्टिंग्स ने ऑस्ट्रेलिया के लिए एकमात्र टेस्ट खेला है। उन्होंने यह टेस्ट साल 2012 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वाका के मैदान पर खेला था। इस दौरान उन्होंने 153 रन देकर एक विकेट झटका था। हालांकि, इसके बाद से वह फिर कभी ऑस्ट्रेलिया की ओर से टेस्ट नहीं खेले। हालांकि, उनका प्रथम श्रेणी करियर जबरदस्त रहा और उन्होंने 75 मैचों में ही 229 विकेट झटक डाले। इस दौरान उनका गेंदबाजी औसत 27 रहा। उनका बैटिंग औसत 22 रहा। हेस्टिंग्स विक्टोरिया की शेफील्ड शील्ड जीत में साल 2009-10 का हिस्सा रहे थे।