John Wright was more of a friend than coach, says Sourav Ganguly
सौरव गांगुली, जॉन राइट और राहुल द्रविड़ (AFP)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कहा कि ‘टीम के पूर्व कोच जॉन राइट उनके लिए एक कोच से बढ़कर दोस्त थे।’

गांगुली और राइट इंग्लैंड में चल रहे विश्व कप में कॉमेंट्री टीम का हिस्सा हैं और दोनों गुरुवार को एकसाथ आए। हालांकि, न्यूजीलैंड और भारत के बीच होने वाला मुकाबला बारिश के कारण रद्द हो गया। क्रिकेट विश्व कप के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो पोस्ट किया गया जिसमें गांगुली और 64 वर्षीय राइट ने बातचीत की।

गांगुली ने कहा, “मैं उनसे पहली बार केंट में मिला जब राहुल द्रविड़ अंदर आए और कहा कि ये हमारे कोच हैं। मैंने कहा कि मुझे उनके साथ काम करना अच्छा लगेगा। हम विश्व कप से पहले न्यूजीलैंड गए और हमें बहुत बुरी हार झेलनी पड़ी, लेकिन टूर्नामेंट में हमारा प्रदर्शन बेहतरीन रहा जिसके जिम्मेदार राइट थे।”

‘एक रन बचाने के लिए चोटिल होने को भी तैयार हैं भारतीय खिलाड़ी’

राइट ने 2000 से 2005 तक के अपने पांच साल के कार्यकाल को याद किया। वो भारत के पहले विदेशी कोच थे। राइट ने कहा, “मैं हमेशा सोचता हूं कि भारत में काम करने का मौका मिलना विशेष था। मुझे उसकी उम्मीद नहीं थी। हम दोनों के लिए शुरुआत कठिन थी। वो नए कप्तान थे और मैं विदेशी कोच। उन्हें अच्छा समय याद होगा।”

गांगुली की कप्तानी में भारत ने कई यादगार जीत दर्ज की जिसमें 2002 में इंग्लैंड के खिलाफ मिली नेटवेस्ट सीरीज में मिली जीत शामिल हैं।