×

न्यूजीलैंड की टीम को पस्त करने के बाद बेयरस्टो ने आईपीएल को दिया क्रेडिट

जॉनी बेयरस्टो ने कहा कि आईपीएल में आपको लगातार अपने गियर बदलने होते हैं और इसका फायदा आपको भविष्य में भी होता है।

इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो ने न्यूजीलैंड के खिलाफ ट्रेंट ब्रिज टेस्ट में कमाल की सेंचुरी लगाने का क्रेडिट आईपीएल को दिया है। बेयरस्टो ने कहा कि आईपीएल ने ही उन्हें अलग गियर में खेलने में मदद की। बेयरस्टो ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में न्यूजीलैंड के खिलाफ ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ 77 गेंद पर सेंचुरी पूरी की।

बेयरस्टो की सेंचुरी और उसके साथ बेनस स्टोक्स की नाबाद हाफ सेंचुरी ने इंग्लैंड को पांचवें दिन 299 रन का लक्ष्य हासिल करने में मदद की। इस जीत के साथ इंग्लैंड ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के पॉइंट्स टेबल में अहम अंक हासिल किए। बेयरस्टो की सेंचुरी इंग्लैंड के लिए टेस्ट क्रिकेट में दूसरी सबसे तेज सेंचुरी रही। इंग्लैंड की ओर से टेस्ट में सबसे तेज सेंचुरी गिलबर्ट जेसप ने 1902 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 76 गेंद पर बनाई थी।

क्रिकेट 365 ने बेयरस्टो के हवाले से बताया, ‘कई ऐसे लोग थे जिनका कहना था कि मुझे आईपीएल में नहीं जाना चाहिए था और काउंटी क्रिकेट खेलते रहना चाहिए था। हां, लोगों का कहना था कि अगर टेस्ट सीरीज से पहले मैं लाल गेंद से चार मैच खेलूं तो यह बहुत अच्छा रहेगा लेकिन दुर्भाग्य से मौजूदा दौर में क्रिकेट जिस तरह से शेड्यूल होता है, उस परिस्थिति में ऐसा संभव नहीं है।’

32 वर्षीय बेयरस्टो आईपीएल 2022 में किंग्स इलेवन पंजाब की टीम में शामिल थे। उन्होंने टीम के लिए कुछ उपयोगी पारियां खेली थीं। बेयरस्टो ने इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट खेलने के बजाय आईपीएल में खेलने का फैसला किया और इसके बाद वह सीधा न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में उतरे। उनका मानना है कि एक फ्रैंचाइजी लीग के लिए घरेलू फर्स्ट-क्लास क्रिकेट छोड़ने का फैसला शायद ही कोई करेगा लेकिन वह ऐसा करके खुश हैं।

बेयरस्टो ने कहा, ‘फैसला आखिर फैसला होता है और अगर मैं कहूं कि उस समय मैं यही चाहता था… कोई बात नहीं। लेकिन इसके कुछ फायदे भी हैं जहां आप आईपीएल में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के खिलाफ खेल रहे होते हैं। वहां आपके पास गियर होते हैं जहां आप अचानक अपने खेल की रफ्तार बढ़ाते हैं या कम करते हैं, यह बहुत जरूरी है। हम किस्मत वाले हैं कि हमें आईपीएल में दुनिया के कुछ बेहतरीन खिलाड़ियों के खिलाफ खेलने का मौका मिलता है। आप खुद को उन दबाव भरी परिस्थितियों में पाते हैं जिसका फायदा आपको आगे होता है।’

trending this week