ऑस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) ने रविवार को जोर देकर कहा कि उन्हें अपने खिलाड़ियों का पूरा समर्थन है और इंग्लैंड के खिलाफ एशेज के बाद अपने कॉन्ट्रेक्ट को बढ़ाने की इच्छा दोहराई।

पूर्व सलामी बल्लेबाज ने 2018 में दक्षिण अफ्रीका के कुख्यात “सैंडपेपर-गेट” बॉल टैंपरिंग दौरे के बाद कोच का पदभार संभाला था और ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के कल्चर को बदलने के लिए किए गए उनके प्रयासों की काफी प्रशंसा की गई।

लेकिन ड्रेसिंग रूम में अशांति कभी दूर नहीं हुई थी और उन्हें इस साल अपनी मैनेजमेंट शैली पर नकारात्मक प्रतिक्रिया को संबोधित करने के लिए मजबूर होना पड़ा। हालांकि खिलाड़ियों और अधिकारियों के बीच बातचीत के बाद इस समस्या का समाधान हुआ।

सिडनी डेली टेलीग्राफ के साथ एक इंटरव्यू में जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें अब अपने खिलाड़ियों का पूरा समर्थन प्राप्त है तो लैंगर ने कहा, “हां।”

उन्होंने कहा, “ये एक अविश्वसनीय रूप से विनम्र अनुभव रहा है, जीवन में मेरा अनुभव ये है कि अक्सर सबसे विनम्र समय, सीखने और बढ़ने के लिए सबसे अच्छा समय होता है और ये निश्चित रूप से मेरे लिए ऐसा ही रहा है और मुझे यकीन है कि आप इसे पहले से ही टीम के अंदर महसूस कर सकते हैं।”

उन्होंने टेस्ट कप्तान टिम पेन, सीमित ओवरों के कप्तान एरोन फिंच और उप कप्तान पैट कमिंस के साथ बातचीत को “एक कोच के रूप में अपने 10 सालों में खिलाड़ियों के साथ सबसे अच्छी बातचीत” बताया।

उन्होंने कहा, “वो ईमानदार थे, वे खुलकर बात कर रहे थे और मैं इसके लिए लोगों का वास्तव में सम्मान और प्रशंसा करता हूं। ये वास्तव में विश्वास का एक बड़ा स्तर है।”

इस बैठक के बाद लैंगर ने टीम के वरिष्ठ खिलाड़ियों और कोचों को ज्यादा जिम्मेदारी सौंपकर, इस कदम को उन्होंने “मुक्ति” कहा। उन्होंने कहा, “मैं इसका आनंद ले रहा हूं और मुझे यकीन है कि जैसे-जैसे हम आगे बढ़ते रहेंगे, हमें और उन्हें इससे बहुत लाभ मिलेगा।”

लैंगर इस समय टी20 विश्व कप में अबू धाबी में टीम के साथ हैं, जहां ऑस्ट्रेलिया ने शनिवार को अपने अभियान के शुरुआती मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को पांच विकेट से हरा दिया। एक बार टूर्नामेंट खत्म हो जाने के बाद, वो इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की एशेज सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया वापस जाते हैं, उसके बाद बतौर कोच लैंगर का भाग्य अधर में होता है।

उनका कॉन्ट्रेक्ट 2022 सीजन तक है और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख निक हॉकले ने कहा है कि वो गर्मियों के बाद तक लैंगर के भविष्य पर विचार नहीं करेंगे। लैंगर ने अपने कॉन्ट्रेक्ट का विस्तार करने की इच्छा जताई है। उन्होंने कहा, “मैंने पहले सार्वजनिक रूप से कहा है कि मैं इस (विश्व कप) अभियान के लिए अविश्वसनीय रूप से अच्छी तरह से संगठित हूं और फिर हम सीधे एशेज में जा रहे हैं। मैं अपना सारा ध्यान यहां लगाने जा रहा हूं। उसमें और फिर हम देखेंगे कि उसके बाद क्या होता है।”

हाल के महीनों में अपने “हेडमास्टर जैसे” नेतृत्व को लेकर आलोचना होने के बावजूद, लैंगर ने जोर देकर कहा कि उन्होंने कभी भी पद छोड़ने पर विचार नहीं किया। उन्होंने कहा, “जब आप कठिन समय से गुजरते हैं तो आपके पास दो विकल्प होते हैं: या तो छोड़ दें या आप बेहतर हो जाएं, और उम्मीद है कि मैंने अपने जीवन में जो कुछ भी किया है, उसमें मैंने कभी पहला विकल्प नहीं लिया है।”