Justin Langer Wants to know David Warner’s side of story in ball-tampering scandal
David Warner (File Photo) © AFP

साउथ अफ्रीका दौरे पर केपटाउन टेस्‍ट के दौरान बाल टेंपरिंग विवाद सामने आया तो तत्‍कालीन कप्‍तान स्‍टीवन स्मिथ, उपकप्‍तान डेविड वॉर्नर पर एक-एक साल का बैन लगा। बॉल से छेड़छाड़ करते कैमरे में कैद हुए बल्‍लेबाज कैमरून बैनक्रॉफ्ट पर भी नौ महीने का बैन लगा। बॉल टेंपरिंग विवाद का मास्‍टर माइंड डेविड वॉर्नर को माना गया। जिसे देखते हुए क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया ने वॉर्नर पर आजीवन कप्‍तानी पर बैन लगा दिया।

टीम में वापसी होने के बावजूद स्‍टीवन स्मिथ को कप्‍तानी के लिए एक साल का इंतजार करना होगा। इस प्रकरण के बाद कोच डेरेन लेहमन ने भी अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया था। टीम के नए कोच जस्टिन लेंगर चाहते हैं कि वाे इस प्रकरण के मास्‍टरमाइंड डेविड वॉर्नर से मिलें और उनका पक्ष जानें।

जस्टिन लेंगर ने फॉक्‍स क्रिकेट कमेंटेटर से बातचीत के दौरान कहा, “मैं चाहता हूं कि मैं एक बार डेविड वॉर्नर के साथ बैठूं और उसके साथ इस बारे में बात करूं। मैं जानना चाहता हूं कि आखिर ऐसा क्‍या हुआ जिसके बाद उन्‍होंने बॉल टेंपरिंग जैसा कदम उठाने का निर्णय लिया। जो भी उस समय हुआ मैं उस बारे में सोचता हूं। डेविड वॉर्नर उस वक्‍त काफी गुस्‍से में दिख रहे थे।”

लेंगर इससे पहले वेस्‍ट ऑस्‍ट्र‍ेलिया के कोच भी रह चुके हैं। वहां, बैनक्रॉफ्ट उनकी देख रेख में खेल चुके हैं। लेंगर ने कहा, “बैनक्रॉफ्ट मेरे बच्‍चे की तरह है। जब ये खबर आई तो मेरे लिए इसे हजम कर पाना काफी मुश्किल था। मैने ब्रेक से पहले टीवी ऑन किया। मैने टीवी पर एक शख्‍स के हाथ में सेंडपेपर देखा। बैनक्रॉफ्ट का हाथ काफी बड़ा है। मैं उसका हाथ देखते ही पहचान गया था। मैंने अपनी बेटी ग्रेसी से कहा कि प्रार्थना कराे ये हाथ बैनक्रॉफ्ट का न हो।” लेंगर ने कहा, “मैं काफी गुस्‍से में और निराशा की स्थिति में था। मैं बैनक्रॉफ्ट और क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया को लेकर काफी चिंतित हो गया था।”