Kane Williamson on Christchurch mosque terror attack: It was such a shame the series end like that; guys felt terrible
केन विलियमसन (AFP)

तीसरी बार रिचर्ड हेडली मेडल जीतने वाले न्यूजीलैंड के अकेले क्रिकेटर बने केन विलियमसन बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बीच में ही खत्म होने से निराश हैं। क्राइस्टचर्च की एक मस्जिद में हुई फायरिंग के बाद बांग्लादेश और न्यूजीलैंड के बीच होने वाला तीसरा टेस्ट मैच रद्द कर दिया गया और मेहमान टीम स्वदेश लौट गई।

ये भी पढ़ें: कोहली और धोनी के धुरंधरों के मुकाबले से होगा इंडियन टी20 लीग का आगाज

न्यूजीलैंड क्रिकेट के अवार्ड समरोह के दौरान इस आतंकी हमले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कीवी कप्तान ने कहा, “ये एक महीने के लिए एक अच्छी प्रतिस्पर्धी सीरीज थी और जिस तरह से इसे खत्म किया गया था, उससे क्रिकेट पूरी तरह से महत्वहीन हो गया था। एक विरोधी टीम थी, जिसके साथ हमने पार्क में समय बिताया था, उसने इस हादसे को अपनी आंखो के सामने होते देखा और ऐसी जगह (मस्जिद) पर डर महसूस किया जहां लोग शांति महसूस करते हैं। इस तरह से सीरीज खत्म होना बेहद शर्मनाक है और मुझे पता है कि लड़कों को बहुत बुरा लग रहा है।”

ये भी पढ़ें: ‘मुझे उम्मीद है बांग्लादेशी खिलाड़ी न्यूजीलैंड लौटेंगे’

विलियमसन ने आगे कहा, “बात आपके पड़ोसी के बारे में है। क्राइस्टचर्च में हुई घटना का शिकार हुए लोग और ना केवल क्राइस्टचर्च बल्कि पूरे न्यूजीलैंड में बसे मुस्लिम समुदाय के लोगों को आप जो प्यार और संवेदना भेजते हैं, ये उसके बारे में है। मुझे लगता है कि ये सब आखिर में अच्छे मानवीय गुणों पर निर्भर करता है जो बहुत महत्वपूर्ण हैं।”

अवार्ड समरोह के दौरान रिचर्ड हेडली मेडल के साथ विलियमसन को टेस्ट क्रिकेटर ऑफ द ईयर का खिताब भी मिला। रॉस टेलर को वनडे और कॉलिन मुनरो को टी20 प्लेयर ऑफ द ईयर के खिताब दिया गया।