कपिल देव © Getty Images
कपिल देव © Getty Images

क्रिकेट में बल्लेबाज कुल 10 तरीकों से आउट होता है जिनमें रन आउट भी आउट होने का एक तरीका है। वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार रन आउट होने का रिकॉर्ड श्रीलंका के मर्विन अट्टापट्टू के नाम है। अट्टापट्टू अपने करियर में 41 बार रन आउट हुए। वहीं, दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा रन आउट होने के मामले में इंजमाम उल हक हैं। इंजमाम कुल 40 मर्तबा रन आउट हुए हैं। टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार रन आउट होने वाले बल्लेबाज ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग हैं। पोंटिंग अपने करियर में कुल 15 बार रन आउट हुए। वहीं अपने साथी खिलाड़ी को सबसे ज्यादा बार रन आउट कराने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ के नाम है। वॉ ने अपने करियर में कुल 50 बार अपने पार्टनर को रन आउट कराया।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि विश्व क्रिकेट में एक ऐसा भी बल्लेबाज हुआ है जो कभी रन आउट नहीं हुआ। ये बल्लेबाज कोई और नहीं बल्कि भारत के पूर्व कप्तान कपिल देव हैं। कपिल देव ने अपने टेस्ट करियर में कुल 131 मैच खेले और 184 पारियों में बल्लेबाजी की इस दौरान वो कभी रन आउट नहीं हुए। उनके अलावा अन्य खिलाड़ी जो 100 से ज्यादा पारियां खेले और कभी रन आउट नहीं हुए वे पाकिस्तान के मुदस्सर नजर(116), इंग्लैंड के पॉल कॉलिंगवुड(115), ग्रीम हिक(114) और पीटर मे(106) हैं। [आईपीएल 10: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर बनाम सनराइजर्स हैदराबाद मैच का फुल स्कोरकार्ड]

हालांकि, कपिल कभी रन आउट नहीं हुए लेकिन उन्होंने अपने टेस्ट करियर में दो बार जरूर साथी खिलाड़ी को रन आउट कराया। कपिल देव ने विकेटकीपर सैयद किरमानी को दो बार रन आउट कराया। वैसे वनडे क्रिकेट में .कपिल एक बार नहीं बल्कि अनेक बार रन आउट हुए हैं और इस तरह टेस्ट क्रिकेट के कारनामे को कपिल वनडे में बरकरार नहीं रख पाए। कपिल देव साल 1978 से लेकर 1994 तक भारत के लिए क्रिकेट खेले। इस दौरान उन्होंने टेस्ट में 434 और वनडे में 253 विकेट लिए। कपिल की ही कप्तानी में टीम इंडिया ने पहली बार साल 1983 में विश्व कप जीता था।