Kapil Dev says no other cricketer has served India like MS Dhoni
Kapil Dev with MS Dhoni @IANS

भारतीय टीम को पहला विश्व कप दिलाने वाले पूर्व दिग्गज कप्तान कपिल देव ने पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की तारीफ की है। देव ने दो विश्व कप खिताब अपने नाम करने वाले धोनी की तारीफ में कहा कि उन्होंने इस खेल में सबसे अधिक योगदान दिया है।

कपिल की कप्तानी में भारत ने 1983 में हुआ विश्व कप जीता था। तो वहीं धोनी ने भारत को 2007 में टी-20 और 2011 में 50 ओवर का विश्व कप खिताब दिलाया था।  धोनी अब अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर के अंतिम पड़ाव पर आ चुके हैं। पिछले साल उनके प्रदर्शन में थोड़ी गिरावट आई थी। जिसके कारण कई पूर्व खिलाड़ियों ने उनकी आलोचना करनी शुरू कर दी थी। हालांकि, कपिल के मन में धोनी के लिए अब भी सम्मान कम नहीं हुआ है।

पढ़ें:- “टीम इंडिया को ये विश्व कप जिता सकते हैं ‘कैप्टन कूल’ और किंग कोहली”

आईएएनएस से खास बातचीत में कपिल ने कहा, “मुझे धोनी के बारे में कुछ नहीं कहना है। मैं समझता हूं कि उन्होंने देश की बहुत अच्छे से सेवा की है और हमें उनका सम्मान करना चाहिए।”

धोनी 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में होने वाले विश्व कप में हिस्सा लेंगे और शायद वह आखिरी बार इस प्रतियोगिता में भाग लेंगे।

कपिल ने कहा, “कोई नहीं जानता कि वह कितना खेलना चाहते हैं और उनका शरीर कब तक काम का भार झेल सकता है। लेकिन कोई भी ऐसा क्रिकेटर नहीं है, जिन्होंने धोनी जितना देश की सेवा की है। हमें उनका सम्मान करना चाहिए और उन्हें शुभकामनाएं देनी चाहिए। मैं आशा करता हूं कि वह इस बार भी विश्व कप जीतेंगे।”

पढ़ें:- वास ने की भारत के विश्व कप सेमीफाइनल में पहुंचने की भविष्यवाणी

टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट लेने और 5000 रन बनाने वाले एकमात्र खिलाड़ी कपिल देव मौजूदा भारतीय टीम से भी संतुष्ट नजर आए।

कपिल ने कहा, “भारतीय टीम बहुत अच्छी लग रही है। हालांकि, यह आसान नहीं होगा। उन्हें एक टीम की तरह खेलना होगा। मैं आशा करता हूं कि कोई खिलाड़ी चोटिल न हो। यदि उनकी किस्मत अच्छी रही तो तो जरूर जीतेंगे।”

पढ़ें:- विश्व कप स्क्वाड में चयन का ख्याल मेरे दिमाग में लगातार था: पंत

चयनकर्ताओं ने आगामी टूर्नामेंट के लिए युवा विकेटकीपर रिषभ पंत को न चुन कर 33 साल के दिनेश कार्तिक को दूसरे विकेटकीपर के रूप में चुना है। कपिल ने कहा, “चयनकर्ताओं ने अपना काम किया कर दिया है। अब हमें टीम का सम्मान करना चाहिए। उन्होंने पंत के ऊपर कार्तिक को चुना और यह ठीक है। हमें यह मानना चाहिए कि चयनकर्ताओं ने अच्छा काम किया है।”