Karsan Ghavari: Would not be surprised if the Australians make a big comeback
Australia © Getty Images

पूर्व टेस्ट तेज गेंदबाज करसन घावरी को चार टेस्ट की सीरीज के बाकी मैचों में ऑस्ट्रेलिया के वापसी करने की उम्मीद है जिसे एडीलेड में पहले टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा था। घावरी ने हालांकि भरोसा जताया कि विराट कोहली की अगुआई वाली भारतीय टीम डटी रहेगी।

घावरी ने चेतेश्वर पुजारा की भी तारीफ की जिन्होंने पहले टेस्ट की पहली पारी में मुश्किल हालात में बल्लेबाजी करते हुए शतक जड़ा और फिर दूसरी पारी में भी अर्धशतक जड़कर मेहमान टीम की स्थिति मजबूत की।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में भारत की जीत पक्की, ये आंकड़े हैं सबूत

बाएं हाथ के इस पूर्व तेज गेंदबाज ने पीटीआई से कहा, ‘‘फिलहाल हम ऑस्ट्रेलिया में 1-0 से आगे हैं और तीन और टेस्ट बाकी हैं। लेकिन ऑस्ट्रेलियाई टीम अगर बड़ी वापसी करती है तो मुझे हैरानी नहीं होगी। वे (ऑस्ट्रेलिया) वापसी करेंगे। लेकिन आपको बता दूं कि हमारा (भारत का) पलड़ा भारी रहेगा। हमारे पास बेहतरीन टीम होने का फायदा है।’’

राहुल के बाद टीम इंडिया की दूसरी दीवार हैं पुजारा

ऑस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज जीतने की उम्मीदों के साथ गई भारतीय टीम ने एडीलेड में पहले टेस्ट में 31 रन की जीत के साथ अपने अभियान की शानदार शुरुआत की। ये 2008 से ऑस्ट्रेलिया में भारत की पहली टेस्ट जीत है। एडीलेड में मैन आफ द मैच बने पुजारा के योगदान पर घावरी ने कहा, ‘‘राहुल द्रविड़ के बाद चेतेश्वर पुजारा (भारतीय क्रिकेट की) दीवार है। वो चीन की दीवार की तरह भारत की दीवार है। भारतीय टेस्ट क्रिकेट में चेतेश्वर पुजारा भारत की दीवार है।’’

पुजारा की तरह ही सौराष्ट्र के रहने वाले घावरी ने कहा, ‘‘टेस्ट क्रिकेट में उसके (पुजारा के) विकेट की काफी अहमियत है। जैसे कि जब राहुल द्रविड़ खेला करता था तो उसके विकेट की काफी अहमियत होती थी (विरोधी टीम के लिए)। आज भारतीय क्रिकेट उस पर निर्भर हो सकता है और जब तब वो अच्छा प्रदर्शन कर रहा है तब ये भारतीय क्रिकेट के लिए शानदार है।’’

अपने करियर के शुरुआत सौराष्ट्र का साथ छोड़कर मुंबई से जुड़ने वाले घावरी ने कहा, ‘‘निजी तौर पर मुझे लगता है कि हमने ऑस्ट्रेलिया के एडीलेड में ये टेस्ट पुजारा, उसके शानदार प्रदर्शन की वजह से जीता। उसने भारतीय गेंदबाजों को बचाव करने के लिए रन दिए। उसका योगदान बड़ा है।’’

भारत की ओर से 39 टेस्ट खेलने वाले घावरी ने कहा कि आस्ट्रेलियाई टीम को स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर की कमी खल रही है जिन्हें गेंद से छेड़छाड़ विवाद में भूमिका के लिए बैन किया गया है। इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘मुझे यकीन है कि उन्हें स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर की कमी खल रही है क्योंकि पिछले कुछ सालों में वे ऑस्ट्रेलिया के रन बनाने वाले मुख्य बल्लेबाज रहे हैं।’’