kevin pietersen makes u turn on ahmedabad test match pitch says nothing dangerous on the wicket
केविन पीटरसन और ग्रीम स्मिथ (फोटो: @ICCTwitter)

भारत और इंग्लैंड (India vs England) के बीच खेले गया पिंक बॉल टेस्ट दो ही दिन में खत्म हुआ तो कई जानकार पिच के स्वभाव पर सवाल उठाने लगे. अहमदाबाद टेस्ट की इस पिच पर सवाल उठाने वालों में एंड्र्यू स्ट्रॉस, माइकल वॉन और केविन पीटरसन जैसे खिलाड़ी पिच की आलोचना कर रहे थे. लेकिन इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) ने तो कुछ देर बाद ही अपनी इस राय से यू-टर्न ले लिया. टि्वटर पर पीटरसन ने कहा कि वह दोबारा ऐसी पिच देखना नहीं चाहते, जबकि करीब 3 घंटे बाद ही उन्होंने यह बयान दे दिया कि दोनों टीमों ने यहां बैटिंग ही खराब की.

भारत ने कम स्कोर वाला यह मैच दूसरे ही दिन 10 विकेट से अपने नाम कर लिया. इंग्लैंड ने यहां टॉस जीतकर पहले बैटिंग का फैसला किया था. लेकिन उसकी पहली पारी 112 रनों पर सिमट गई. इसके बाद अपनी दूसरी पारी में भी इंग्लैंड 81 रनों पर सिमट गई. भारतीय टीम ने अपनी पहली पारी में 145 रन बनाए थे. पहली पारी में उसे 33 रन की लीड मिली, जिसके कारण इस मैच में भारत को 45 रनों का लक्ष्य मिला था.

https://twitter.com/KP24/status/1364945719812055041?s=20

इसके बाद केविन पीटरसन ने हिंदी में एक ट्वीट लिखा. इस ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘एक मैच के लिए ऐसा विकेट ठीक है, जहां बल्लेबाज की स्किल और तकनीक का टेस्ट होता है. लेकिन मैं इस तरह का विकेट और नहीं देखना चाहता और मुझे लगता है कि सारे खिलाड़ी भी नहीं चाहते. बहुत अच्छे इंडिया.’

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Kevin Pietersen ? (@kp24)

इसके कुछ देर बाद पीटरसन ने अपने इंस्टाग्राम वीडियो में कहा, ‘मैं बस यही कहूंगा कि दोनों ही टीमों ने यहां बहुत ही खराब बल्लेबाजी की. मैं समझता हूं कि अगर वे खुद के साथ ईमानदार रहते हैं तो वे यह मानेंगे कि उन्होंने खराब बल्लेबाजी की. 30 में 21 विकेट सीधी गेंदों पर आए. पिच पर कुछ भी खतरनाक नहीं था. बस यहां बेहतर बैटिंग की जरूरत थी. यह मैच तीसरे दिन तक या शायद चौथे दिन तक जाना ही चाहिए था.’