केविन पीटरसन © Getty Images
केविन पीटरसन © Getty Images

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन का मानना है कि टेस्ट मैचों के तरफ क्रिकेटरों का रुझान धीरे धीरे कम हो गया है इसके लिए क्रिकेटरों को टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा पैसे दिए जाने चाहिए। पीटरसन ने टेस्ट मैचों की घटती लोकप्रियता के प्रति निराशा जताई और उन्होंने कहा कि टेस्ट मैच को बचाने के लिए कुछ किये जाने की आवश्यकता है। मैंने महीने भर पहले दुनिया भर के बच्चों को दुबई में अपने फाउंडेशन में कोचिंग दी। तब मुझे पता चला कि उनके अन्दर टेस्ट क्रिकेट के प्रति कोई दिलचस्पी नहीं है। ये भी पढ़ें: जब दक्षिण अफ्रीका हुआ क्रिकेट से 21 सालों के लिए बैन

पीटरसन ने कहा आईसीसी विश्व क्रिकेट के मैच को संचालित करता है उसे टेस्ट मैचों के की लोकप्रियता बढ़ाने के लिए क्रिस गेल व कीरोन पोलार्ड की जरुरत है। हमें डेरेन ब्रावो और आंद्रे रसेल की जरुरत है रसेल बिग बैश में काफी तेज गति से गेंदबाजी कर रहे है और उतनी ही तेजी से बड़े बड़े छक्के भी लगा रहे है उन्हें ऐसा ही प्रदर्शन टेस्ट मैचों के लिए करना चाहिए ताकि लोग ज्यादा से ज्यादा टेस्ट मैचों के प्रति आकर्षित हो। ये भी पढ़ें: क्या अन्तर्राष्ट्रीय मैचों में भी हैलमेट पहने नजर आएगें अंपायर? 

उन्होंने आगे कहा कि यह बेहद दुखद है कि ये खिलाड़ी यहाँ खेल रहे है जो दुनिया में आकर्षण का केंद्र है यह वास्तव में दुखद है ये लम्बी अवधि तक क्रिकेट नही खेल रहे हैं टेस्ट क्रिकेट में भी मोटी रकम दी जानी चाहिए। ऐसा करके ही हम खिलाडियों को फिर से इस प्रारूप से जोड़ पाएंगे। हमें घरेलू टूर्नामेंट में जितनी धन राशि मिलती है उतनी ही टेस्ट मैच खेलने के लिए भी मिलनी चाहिए।