राजस्थान रॉयल्स टीम पर बीसीसीआई ने दो साल का बैन लगाया था © Getty Images (File Photo)
राजस्थान रॉयल्स टीम पर बीसीसीआई ने दो साल का बैन लगाया था © Getty Images (File Photo)

इंडियन प्रीमियर लीग के दसवें सीजन के खत्म होने के बाद से ही फैंस अगले सीजन का इंतजार करने लगे। इसकी सबसे बड़ी वजह है चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स की वापसी। बीसीसीआई द्वारा इन दोनों टीमों पर दो साल का प्रतिबंध लगाया गया था जो इस साल खत्म हो गया। हालांकि दूसरे सीजन के शुरू होने से पहले राजस्थान रॉयल्स ने बीसीसीआई से टीम का नाम बदलने की अनुमति मांगी है। राजस्थान टीम की मालिक जयपुर आईपीएल क्रिकेट प्राइवेट लिमिटेड कंपनी अपना नाम बदलना चाहती है और इसी के चलते फ्रेंचाइजी ने बोर्ड के सामने ये मांग रखी है।

बोर्ड टीम की इस मांग से काफी हैरान है, उन्हें लगता है कि इस छोटी मांग के पूरा होते ही फ्रेंचाइजी बोर्ड के सामने कोई बड़ा प्रस्ताव रखेगी। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए बयान में कहा, “उन्होंने निवेदन जरूर किया है लेकिन कोई कारण नहीं बताया कि आखिर वह टीम का नाम किस लिए बदलना चाहते हैं।” मुमकिन है कि बीसीसीआई द्वारा लगाए बैन के बाद राजस्थान रॉयल्स अब एक नए नाम के साथ नया सीजन शुरू करना चाहती हो। एक तरफ राजस्थान टीम अपना नाम बदलना चाहती है तो वहीं किंग्स इलेवन पंजाब टीम ने तो अपना घरेलू मैदान ही बदलने का फैसला कर लिया है। [ये भी पढ़ें: दिल्ली डेयरडेविल्स के कोच बन सकते हैं जेसन गिलेस्पी]

पंजाब आईपीएल की ऐसी पहली टीम है जिसने बीसीसीआई से अपना घरेलू मैदान बदलने का निवेदन किया है। फ्रेंचाइजी मालिकों का कहना है कि उन्हें पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन से खास मदद नहीं मिलती है, साथ ही मोहाली में उनकी टीम के प्रशंसकों की संख्या कम होने की वजह से उनके मुनाफे पर भी असर पड़ता है। उन्होंने ये भी कहा है मोहाली की जगह पुणे या इंदौर में घरेलू मैच खेलने पर उन्हें ज्यादा मुनाफा होता है। नए घरेलू मैदान के लिए पंजाब टीम के मालिकों की पहली पसंद इंदौर है। यह मुद्दा सीओए की साथ बैठक में भी उठाया गया था। जिसके बाद समिति ने अगली आईपीएल गवर्निंग काउसिंल में इस पर चर्चा करने का फैसला किया था। [ये भी पढ़े: क्रिकेट के मैदान पर वापसी का इंतजार कर रहे श्रीसंत केरल हाईकोर्ट पहुंचे]

आईपीएल के पहले सीजन से मोहाली ही पंजाब टीम का घरेलू मैदान है, ऐसे में नया घरेलू मैदान चुनने पर टीम को अधिक भुगतान देना पड़ सकता है। वहीं खबरें ये भी है कि पंजाब टीम भी राजस्थान की तरह अपना नाम बदलने पर विचार कर रही है।