Kinrara Oval, scene of Sachin Tendulkar ton, saved from closure
Kinrara-Oval(AFP Photo)

सचिन तेंदुलकर के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतकों में से एक शतक का गवाह रहा किनरारा स्टेडियम अब बंद नहीं होगा। इसमें पहले की तरह क्रिकेट खेली जाती रहेगी।

पढ़ें: स्‍मृति मंधाना को और धैर्यवान बनाने की कोशिश में जुटे कोच रमन

किनरारा ओवल का निर्माण 2003 में किया गया था और उसने कुछ एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों की मेजबानी भी की जिसमें भारत, ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज की टीमें खेली। इसके अलावा इस स्टेडियम में अंडर-19 विश्व कप के मैच भी खेले गये। यह कुआलालम्पुर के पश्चिम में प्रमुख स्थान पर स्थित है।

मलेशियाई क्रिकेट संघ की इस स्टेडियम की लीज पिछले साल अक्टूबर में समाप्त हो गई और जिस कंपनी का इसपर मालिकाना हक है उसने उन्हें स्टेडियम छोड़ने के लिये कहा ताकि वे इस पर नया व्यावसायिक ढांचा तैयार कर सकें।

कई महीनों तक अधर में लटके रहने के बाद अब इस स्टेडियम का भविष्य सुरक्षित हो गया है क्योंकि मलेशियाई कैबिनेट ने फैसला किया है कि आगे भी इसका उपयोग क्रिकेट स्टेडियम के रूप में ही किया जाएगा। खेल मंत्री सैयद सादिक ने यह जानकारी दी।

पढ़ें: इंडिया ए ने इंग्‍लैंड लायंस को पारी और 68 रन से हराया, सीरीज 1-0 से जीती

सादिक ने ट्विटर पर कहा, ‘मलेशियाई सरकार इस क्रिकेट मैदान को बचाने के लिये प्रतिबद्ध है। कैबिनेट ने फैसला किया है कि व्यावसायिक ढांचा खड़ा करने से अधिक महत्वपूर्ण क्रिकेट मैदान को बचाना है।’

भारत के दिग्गज बल्लेबाज तेंदुलकर ने सितंबर 2006 में वेस्टइंडीज के खिलाफ इस मैदान पर 141 रन की जबर्दस्त पारी खेली थी।

(इनपुट-एजेंसी)