KL Rahul is not thinking too much about spot in World Cup team
KL Rahul (File Photo) @ BCCI

जब प्रतिभा की बात आती है तो कोई भी केएल राहुल की बल्लेबाजी पर उंगली नहीं उठा सकता लेकिन इंडियन टी20 लीग के 12वें सीजन में शुरुआती असफलता के बाद से आलोचकों ने उनकी फॉर्म पर सवाल जरूर खड़े कर दिए हैं। साथ ही ऐसा भी कहा जाने लगा था कि वह विश्व कप टीम का हिस्सा नहीं होंगे।

अपने आलोचकों को हालांकि राहुल ने मुंबई के खिलाफ 71 रनों की शानदार पारी खेल अच्छा जवाब दिया। राहुल ने कहा कि इंडियन टी20 लीग जैसे बड़े टूर्नामेंट में कुछ खराब मैच ज्यादा मायने नहीं रखते हैं। यह सिर्फ एक अच्छी पारी की बात है जो काफी चीजें बदल देगी।

पढ़ें: धोनी की पारी, ब्रावो-ताहिर की शानदार गेंदबाजी रही जीत का फैक्टर

उन्होंने कहा, “एक खिलाड़ी के तौर पर यह जरूरी है कि हम अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करें। साथ ही यह भी जरूरी है कि हम वर्तमान में रहें। अगर आप अच्छा करते हैं तो आप अपने आप ही चयन की रेस में होंगे। लेकिन अगर आप चयन के बारे में सोचते हैं तो आप अपने आप पर बहुत अधिक दवाब बना लेंगे। मैं वो नहीं हूं जो विश्व कप के बारे में ज्यादा सोच रहा है। मैं सिर्फ पंजाब के लिए अच्छा करना चाहता हैं और टूर्नामेंट का लुत्फ उठाना चाहता हूं।”

अपने आलोचकों और असफलताओं को लेकर खड़े किए जा रहे सवाल पर राहुल ने कहा कि वह बाहरी लोग जो कह रहे हैं उसे अपने ऊपर हावी नहीं होने देते। “मैं अत्यधिक दवाब के बारे कुछ नहीं जानता। अभी सिर्फ दो मैच हुए हैं इसलिए बातें मेरे पास नहीं पहुंची हैं और न ही मैं ज्यादा पढ़ता हूं। हां, रन न करना और अच्छी शुरुआत न कर पाना हमेशा निराशाजनक बात होती है, लेकिन यह बड़ा टूर्नामेंट है और एक बड़ी पारी आपको वापस पटरी पर ला देगी।”

पढ़ें:- लगातार 4-5 मैच हारने के बाद वापसी करना मुश्किल होगा: बेन स्टोक्स

राजस्थान के साथ हुए मुकाबले में पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन का जोस बटलर को मांकडिग आउट करना चर्चा का विषय रहा था, लेकिन राहुल ने कहा कि यह टीम क्या लिखा जा रहा है उसको ज्यादा तवज्जो नहीं देती।

“क्या लिखा जा रहा है इस पर हम ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं। हम एक नई टीम हैं और लीग का आनंद लेना चाहते हैं। हमारी टीम का माहौल काफी सकारात्मक है। हम लगातार सीखने और सुधार करने पर ध्यान दे रहे हैं।”