© AFP
© AFP

पहले टेस्ट में 72 रन की हार के बाद अब टीम इंडिया मैनेजमेंट इस माथापच्ची में जुटा है कि दूसरे टेस्ट में आखिर वापसी कैसे की जाए। टीम इंडिया सेंचुरियन में अपनी बेस्ट प्लेइंग इलेवन उतारना चाहती है जो द.अफ्रीकी गेंदबाजों से लोहा ले सके। खबरों के मुताबिक टीम इंडिया ने दूसरे टेस्ट में बड़े फैसले लेने का मन बना लिया है। टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक दूसरे टेस्ट में शिखर धवन का पत्ता कटना तय है। शिखर धवन की जगह ओपनिंग का जिम्मा के एल राहुल को सौंपा जाएगा।

शिखर धवन पर क्यों गिरेगी गाज?

बाएं हाथ के ओपनर शिखर धवन की जगह के एल राहुल को मौका देने की कई वजहें सामने आ रही हैं। पहली वजह ये है कि शिखर धवन केप टाउन टेस्ट में बल्ले से नाकाम रहे और उन्होंने सेट होने के बाद अपने विकेट फेंके। धवन ने पहले टेस्ट की दोनों पारियों में 16 रन बनाए और वो डेल स्टेन की गेंदों पर अति आक्रामकता दिखाने के फेर में पैवेलियन लौट गए। धवन के इस तरह पैवेलियन लौटने पर सौरव गांगुली भी खासे नाराज दिखे और उन्हें अपनी तकनीक पर ध्यान देने की सलाह दे डाली।

वैसे सिर्फ बल्लेबाजी ही नहीं धवन की लचर फील्डिंग भी उन्हें दूसरे टेस्ट से बाहर करने की वजह बनने वाली है। धवन ने पहले टेस्ट की पहली पारी में केशव महाराज का कैच छोड़ दिया था। जब महाराज का कैच छूटा था तो उन्होंने खाता भी नहीं खोला था और धवन के कैच छोड़ने के बाद उन्होंने 35 रन बना डाले जो कि टीम इंडिया को बहुत महंगा पड़ गया।

द.अफ्रीका के खिलाफ भारत की वापसी की महज़ 30 प्रतिशत संभावना : सहवाग
द.अफ्रीका के खिलाफ भारत की वापसी की महज़ 30 प्रतिशत संभावना : सहवाग

के एल राहुल फॉर्म में हैं

के एल राहुल की बात करें तो वो पिछले कई टेस्ट मैचों में जबर्दस्त प्रदर्शन करने के बावजूद बेंच पर बैठे हुए हैं। मुरली विजय की वापसी के बाद टीम इंडिया ने के एल राहुल को प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया। लेकिन सही मायनों में देखा जाए तो टेस्ट क्रिकेट में के एल राहुल की तकनीक शिखर धवन पर भारी पड़ती है। के एल राहुल को अपने ऑफ स्टंप का पता है और वो गेंद छोड़ने में माहिर हैं। साथ ही शॉर्ट पिच गेंदों पर के एल राहुल शिखर से ज्यादा सहज दिखते हैं।