Kuldeep Yadav: Rohit Sharma and MS Dhoni backed me and helped me get those wickets
कुलदीप यादव ने इंदौर टी20 में एक ओवर में तीन विकेट लिए © AFP

भारत बनाम श्रीलंका दूसरे टी20 मैच में स्पिन गेंदबाजों युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने मिलकर 7 विकेट झटके और टीम को जीत दिलाई। टीम इंडिया के बनाए 260 रनों के जवाब में श्रीलंका टीम ने भी धमाकेदार शुरुआत की। एक समय पर श्रीलंकाई बल्लेबाज उपुल थंरगा और कुसल परेरा भारतीय गेंदबाजों पर दबाव बना रहे थे। श्रीलंकाई गेंदबाजों ने सबसे ज्यादा रन कुलदीप यादव के ओवर में लगाए। 40 से ज्यादा रन दे चुके कुलदीप काफी परेशाान थे क्योंकि उन्हें विकेट नहीं मिल रहा था। इसके बाद कप्तान रोहित शर्मा और महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हें समझाया, दोनों सीनियर खिलाड़ियों ने युवा स्पिनर से लगातार बात की और उन्हें भरोसा दिलाया कि अब भी विकेट मिल सकता है। इसके बाद कुलदीप ने वही किया और 15वें ओवर में उन्होंने एक नहीं बल्कि तीन विकेट निकाले।

ओवर की पहली गेंद पर कुलदीप ने कप्तान थिसारा परेरा को शून्य पर आउट किया। इसके बाद शतक के करीब पहुंच रहे कुसल परेरा को भी कुलदीप ने अगली गेंद पर मनीष पांडे के हाथों कैच आउट कराया। ओवर की पांचवीं गेंद पर कुलदील ने नए बल्लेबाज असेला गुणारत्ने को धोनी की मदद से स्टंप आउट करना अपना तीसरा विकेट लिया। मैच के बाद कुलदीप ने कहा, “पहले तीन ओवर में मैने 45 रन दिए, लेकिन मैं तब भी विकेट लेने के बारे में सोच रहा था। मैं जानता था कि अगर मैं एक विकेट ले लेता हूं तो मुझे दूसरा विकेट मिल जाएगा। पहला ओवर जो मैंने डाला था, उसमें हवा में धीमी गेंद डाली थी, लेकिन विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छी थी और गेंद बल्ले पर बड़ी आसानी से आ रही थी। इसके बाद मैं फिर बाहर गेंदें डाल रहा था।”

आज ही के दिन महेंद्र सिंह धोनी ने क्रिकेट की दुनिया में कदम रखा था
आज ही के दिन महेंद्र सिंह धोनी ने क्रिकेट की दुनिया में कदम रखा था

धोनी और रोहित के समर्थन के बारे में बात करते हुए  कहा, “फिर मुझे महसूस हुआ कि मुझे विकेट पर गेंदबाजी करने की जरूरत है। धोनी और रोहित भाई मेरा समर्थन कर रहे थे और कह रहे थे कि विकेट लेने की कोशिश कर। ये छोटा मैदान है छक्के-चौके तो लगेंगे ही। धोनी और रोहित मुझसे बाहर गेंद डालने और ऑफ स्टंप के बाहर वेरिएशन का इस्तेमाल करने को बोल रहे थे। तीन ओवरों में सात विकेट ने वाकई मैच का रूख बदल दिया।”