भारतीय स्पिनर कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) ने कहा कि पिछले साल बहुत ज्यादा मैचों में खेलने की वजह से वो इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2019 में बुनियादी बातों पर ध्यान नहीं दे पाए लेकिन इस बार उन्हें इस टी20 टूर्नामेंट में सफलता का पूरा भरोसा था।

उन्होंने कहा कि वो पिछली बार सही योजना नहीं बना पाए, जिससे उन्हें अच्छा सबक मिला। ये चाइनामैन गेंदबाज आईपीएल 2020 में सफलता के प्रति आश्वस्त था लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण इस टूर्नामेंट का आयोजन अधर में लटका है।

कुलदीप ने कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR) की वेबसाइट से कहा, ‘‘मैं आईपीएल 2020 के लिए पूरी तरह से तैयार था। मैंने इसके लिए अच्छी योजना बना रखी थी। मैं इस आईपीएल में सफलता के प्रति शत प्रतिशत आश्वस्त था।

पिछले सत्र के बारे में कुलदीप ने कहा, ‘‘जब मैं आईपीएल में उतरा तो मैंने बहुत अभ्यास नहीं किया था। आईपीएल 2019 का सबसे बड़ा सबक ये रहा कि मैंने सीजन के लिए कोई योजना नहीं बनाई थी। पिछले साल विशेषकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बहुत अधिक क्रिकेट खेली गया। मैं आईपीएल शुरू होने से केवल तीन दिन पहले टीम से जुड़ा था। इसलिए योजना सही तरह से नहीं बनी।’’

इतना बुरा भी नहीं था पिछला आईपीएल सीजन

कुलदीप ने हालांकि कहा कि पिछला सीजन उनके लिए बहुत खराब नहीं रहा और उन्होंने भले ही विकेट नहीं लिए लेकिन किफायती गेंदबाजी की।

उन्होंने कहा, ‘‘ऐसा भी नहीं है कि पिछला आईपीएल मेरे लिए बुरा रहा। मैंने अच्छी गेंदबाजी की। लेकिन लेग स्पिनर की सफलता उसके द्वारा लिए गये विकेटों पर निर्भर करती है। मैं ज्यादा विकेट नहीं ले पाया था लेकिन मेरा इकोनॉमी रेट अच्छा था।’’

कुलदीप ने कहा, ‘‘जब आप विकेट नहीं लेते तो आपको आत्मविश्वास थोड़ा डगमगा जाता है। इसके अलावा एक मैच में मैंने काफी रन लुटा दिए जिससे मेरा आत्मविश्वास गिर गया।’’