श्रीलंका क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा (Kumar Sangakkara) का मानना है कि बीसीसीआई (BCCI) अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) आईसीसी के चेयरमैन पद के लिए सही उम्मीदवार हैं है। पूर्व बल्लेबाज ने कहा गांगुली का ‘कुशाग्र क्रिकेट दिमाग’ और प्रशासक के रूप में अनुभव उन्हें इस भूमिका के लिए ‘काफी उपयुक्त’ दावेदार बनाता है।

मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के अध्यक्ष संगकारा ने ‘इंडिया टुडे’ से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि सौरव गांगुली बदलाव ला सकता है। दादा (गांगुली) का बड़ा प्रशंसक हूं, सिर्फ क्रिकेटर के रूप में उनके दर्जे के कारण नहीं बल्कि मुझे लगता है कि उनके पास कुशाग्र क्रिकेट दिमाग है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘वो दिल से क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ हित के बारे में सोचता है और जब आप आईसीसी में हो तो ये सिर्फ इसलिए नहीं बदलना चाहिए कि आप बीसीसीआई अध्यक्ष हो या इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड के या श्रीलंका क्रिकेट या किसी अन्य बोर्ड के।’’

संगकारा ने कहा, ‘‘आपकी मानसिकता अंतरराष्ट्रीय होनी चाहिए और आप जहां से आए तो वहां को लेकर भेदभाव नहीं होना चाहिए, जैसे कि मैं भारतीय, श्रीलंकाई, आस्ट्रेलियाई या इंग्लैंड का हूं। उसे समझना चाहिए कि मैं क्रिकेटर हूं और वही कर रहा हूं जो क्रिकेट खेलने वाले सभी देशों के लिए सर्वश्रेष्ठ है।’’

श्रीलंका के पूर्व कप्तान ने कहा कि गांगुली में रिश्ते बनाने की क्षमता है जो क्रिकेट की संचालन संस्था में प्रभावी पद के लिए महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा, ‘‘बीसीसीआई अध्यक्ष बनने से पहले भी मैंने उसका काम देखा है, प्रशासन और कोचिंग से भी पहले, उसने किस तरह दुनिया भर के खिलाड़ियों से रिश्ते बनाए, एमसीसी क्रिकेट समिति में उसका कार्यकाल।’’

बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष शशांक मनोहर ने इस महीने की शुरुआत में आईसीसी के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया। चुनाव होने तक हांगकांग के इमरान ख्वाजा को अंतरिम चेयरमैन बनाया गया है। संगकारा एकमात्र पूर्व अंतरराष्ट्रीय कप्तान नहीं हैं जिन्होंने गांगुली का समर्थन किया है। उनसे पहले दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ ने गांगुली का समर्थन किया था।