Kumar Sangakkara hopes Sri Lanka can overcome “chaotic” build-up to World Cup thanks to Dimuth Karunaratne’s “lack of baggage”
कुमार संगाकारा © AFP

पूर्व श्रीलंकाई दिग्गज कुमार संगाकारा को उम्मीद है कि नए कप्तान दिमुथ करुणारत्ने की अगुवाई में श्रीलंका विश्व कप से पहली टीम में फैली अराजकता को पीछे छोड़ आगे बढ़ेगी। संगाकारा का मानना है कि बाकी कप्तानों की तरह पहली बार विश्व कप में कप्तानी कर रहे करुणारत्ने के ऊपर पुरानी हार का बोझ नहीं है जो कि टीम के लिए मददगार साबित होगा।

संगाकारा ने एएफपी से बातचीत में कहा, “खिलाड़ियों के चयन और खिलाड़ियों को टीम में बहुत लगातार मौके देने के मामले में, जो कि उनके आत्मविश्वास के लिए जरूरी है, सब कुछ अराजकता से भरा रहा। ये लगातार होने वाला बदलाव और मंथन, जहां आप पहले अपनी जगह पक्की करने के बारे में सोच रहे हैं, ना कि टीम की योजना लागू करने के बारे तो मुझे लगता है कि ये बड़ी परेशानी है।”

1996 में पहला विश्व कप जीतने वाली श्रीलंका टीम इंग्लैंड में होने वाले इस टूर्नामेंट की प्रबल दावेदार टीमों में शामिल नहीं है। श्रीलंका अपने पिछले वनडे मैचो में से 8 मुकाबले हारी है। जिसके पीछे टीम में लगातार हो रहे बदलावों की भूमिका साफ है।

विश्व कप में एक्स-फैक्टर साबित होंगे जोफ्रा ऑर्चर: विराट कोहली

साल 2017 से अब तक श्रीलंका टीम ने कुछ 6 अलग अलग कप्तानों को मौका दिया है। वहीं विश्व कप से ठीक पहले दो साल से वनडे क्रिकेट से गायब रहे करुणारत्ने को वनडे टीम का कप्तान बना दिया गया। संगाकारा इस फैसले से कुछ हद तक खुश हैं।

उन्होंने कहा, “दिमुथ करुणारत्ने एक काबिल खिलाड़ी है, तकनीकि तौर पर अच्छा है और पिछले दो सालों से टेस्ट क्रिकेट में काफी सफल रहा है। दो नई गेंदो के साथ लंबे समय तक बल्लेबाजी करने की क्षमता बहुत महत्वपूर्ण होगी। करुणारत्ने का नए कप्तान के तौर पर आना टीम की मदद कर सकता है।” श्रीलंका आज दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहला अभ्यास मैच खेलेगी।