अमित मिश्रा © Delhi Daredevils
अमित मिश्रा © Delhi Daredevils

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 10वां संस्करण अभी शुरुआती दौर में है इसी को देखते हुए दिल्ली डेयरडेविल्स टीम के खिलाड़ी अमित मिश्रा ने कहा है कि उनकी टीम प्रयोग करने से पीछे नहीं हटेगी। मिश्रा ने शनिवार को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ होने वाले मैच से पहले संवाददाता सम्मेलन में कहा कि टीम प्रयोग करने से कतराएगी नहीं। दिल्ली को पंजाब का सामना अपने घर में फिरोज शाह कोटला मैदान पर करना है। दिल्ली ने अपने पिछले मैच में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट को 97 रनों से करारी हार दी थी। इस जीत के बाद उसके हौसले बुलंद हैं।

मिश्रा ने कहा, “हर टीम का लक्ष्य शुरुआती दौर में ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करना होता है ताकि अच्छा बल्लेबाजी संयोजन निकल सके। यही बात हमारे साथ ही लागू होती है।” उन्होंने कहा, “जब टीम अच्छा प्रदर्शन कर रही हो, खासकर टी20 में तो प्रयोग करने के मौके सीमित होते हैं।” मिश्रा ने पुणे के खिलाफ तीन विकेट लेकर दिल्ली की जीत में अहम भूमिका निभाई थी। अपने पिछले मैच के प्रदर्शन पर मिश्रा ने कहा, “मैंने जिस तरह से गेंदबाजी की उससे मैं बेहद खुश हूं। अगले मैच में मैं और आक्रामकता के साथ गेंदबाजी करने की कोशिश करूंगा। इस मैच में हम आक्रामक क्षेत्ररक्षण लगाएंगे।”[ये भी पढ़ें: प्रिव्यू: किंग्स इलेवन पंजाब के आतिशी बल्लेबाजों की दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ होगी अग्निपरीक्षा]

मिश्रा ने अपनी टीम के गेंदबाजी आक्रमण को पंजाब से बेहतर बताया है। दिल्ली के पास मिश्रा के अलावा कप्तान जहीर खान, पैट कमिंस, कगिसो रबाडा, मोहम्मद शमी, क्रिस मोरिस जैसे गेंदबाज हैं। उन्होंने कहा, “हमारे पास पंजाब से अच्छा गेंदबाजी आक्रमण है। हम इस मैच में उनसे बेहतर गेंदबाजी करने की कोशिश करेंगे। हम उनके गेंदबाजी का विश्लेषण करेंगे और उसके मुताबिक रणनीति बनाएंगे।”

अपनी टीम की बल्लेबाजी पर मिश्रा ने कहा कि, “दिल्ली की बल्लेबाजी में भी गहराई है। जब तक हमारे बल्लेबाज खुद विकेट नहीं खोते तब तक वह अच्छे से बल्लेबाजी कर सकते हैं और किसी भी टीम के बड़े लक्ष्य को भी हासिल कर सकते हैं।”

मिश्रा ने बताया कि चिकनपॉक्स की समस्या से जूझ रहे श्रेयस अय्यर ठीक होकर टीम के साथ जुड़ गए हैं। उन्होंने कहा, “श्रेयस चयन के लिए उपलब्ध हैं। वह अभ्यास भी कर रहे हैं। बस यह देखना होगा की वह टीम संयोजन में फिट होते हैं या नहीं।” मिश्रा ने कहा, “जहां तक युवा खिलाड़ियों की बात है। उनके ऊपर किसी तरह का दवाबा नहीं है। उन्हें अपना खेल खेलने की आजादी है।” मिश्रा ने कहा, “सीनियर खिलाड़ी और मेंटॉर राहुल द्रविड़ युवाओं मौका दे रहे हैं। यही बात सीनियर खिलाड़ियों पर भी लागू होती है। वह युवा बल्लेबाजों को सलाह दे रहे हैं कि किस तरह से बल्लेबाजी करनी हैं, लेकिन उन पर किसी भी तरह का कोई दवाब नहीं है।” उन्होंने कहा, “हमें अपने खिलाड़ियों पर पूरा विश्वास है। उम्मीद है आने वाले मैचों में वह अच्छा प्रदर्शन करेंगे।”