Lakshya Sen defeats Ng Tze Yong to secure the Gold medal at his maiden Commonwealth appearance
Badminton Photo/BWF

पीवी सिंधु के नक्शेकदम पर चलते हुए युवा भारतीय शटलर लक्ष्य सेन ने बर्मिंघम में जारी कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है। लक्ष्य सेन ने पुरुष सिंगल्स के फाइनल में मलेशिया के एनजी त्जे योंग के खिलाफ पहला गेम हारने के बावजूद जबरदस्त पलटवार करते हुए ये गोल्ड अपने नाम किया। इस तरह भारत के खाते में 20वां गोल्ड मेडल आ गया है।

लक्ष्य ने 19-21, 21-9 और 21-16 से फाइनल मुकाबला अपने नाम किया। इसके साथ ही लक्ष्य सेन कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले चौथे पुरुष भारतीय शटलर बन गए। लक्ष्य से पहले प्रकाश पादुकोण, सैयद मोदी और पारूपल्ली कश्यप CWG में गोल्ड मेडल जीत चुके हैं।

दो युवा खिलाड़ियों के बीच हुए पुरुष एकल फाइनल में दुनिया के 10वें नंबर के खिलाड़ी और विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता लक्ष्य सेन ने पहला गेम गंवाने के बाद जोरदार वापसी करते हुए मलेशिया के दुनिया के 42वें नंबर के खिलाड़ी एनजी को हराया। 22 साल के योंग के खिलाफ 20 साल के लक्ष्य की यह लगातार तीसरी जीत है।

भारत बर्मिंघम गेम्स की बैडमिंटन प्रतियोगिता में पांच पदक जीत चुका है। सोमवार को दो स्वर्ण से पहले मिश्रित टीम के रजत पदक के अलावा किदांबी श्रीकांत ने पुरुष एकल जबकि त्रीशा जॉली और गायत्री गोपचंद की जोड़ी ने महिला युगल में कांस्य पदक जीता।

(with PTI Bhasha inputs)