Lance Klusener still have regret of losing 1999 World Cup semi-final against Australia
South Africa vs Australia (File Photo) © Getty

साउथ अफीका के पूर्व दिग्‍गज ऑलराउंडर लांस क्‍लूजनर (Lance Klusener) को आज भी विश्‍व कप 1999 (ICC Wold Cup 1999) का वो सेमीफाइनल मुकाबला नहीं भूलता जिसमें वो जीत की दहलीज तक पहुंचने के बावजूद फाइनल में नहीं पहुंच पाए थे।

ईएसपीएन क्रिकइंफो से बातचीत के दौरान क्लूजनर ने डेमियन फ्लेमिंग (Damien Fleming) के आखिरी ओवर के पलों को याद किया। उन्‍हेंने कहा, “आखिरी गेंद पर एक रन बनाना ज्‍यादा मुश्किल काम नहीं था। मैं ऐसा कर सकता था। हर तरह का परिश्रम किया गया, लेकिन हमने वो काम नहीं किया जो हमें करने की जरूरत थी। हम अगली गेंद का इंतजार करके उसपर चौका लगा सकते थे।”

पढ़ें: क्रिस गेल की चुनौती पर आदिल राशिद का जवाब, ‘इंसान ही ही हैं, गलती कर आउट होंगे’

विश्‍व कप 1999 का मुकाबला टाई पर खत्‍म हुआ था, लेकिन टूर्नामेंट के दौरान पहले ऑस्‍ट्रेलिया की टीम साउथ अफ्रीका को हरा चुकी थी। 214 रनों के लक्ष्‍य का पीछा करने के दौरान साउथ अफ्रीका ने मैच में 198 रन पर नौ विकेट खो दिए थे। लांस क्‍लूजनर 31(16) ने एक छोर पर मोर्चा संभाले रखा। दूसरे छोर पर उनके साथ एलन डोनाल्‍ड थे।

पढ़ें: पहले 10 ओवर में विकेट ना गंवाएं बांग्लादेशी खिलाड़ी: तमीम इकबाल

आखिरी ओवर में साउथ अफ्रीका को जीत के लिए नौ रन की दरकार थी। पहली दो गेंदाें पर क्‍लूजनर ने चौका लगाया। अब टीम को जीत के लिए चार गेंद पर महज एक रन चाहिए थे। तीसरी गेंद पर कोई रन नहीं आया, जिसके बाद चौथी गेंद पर क्‍लूजनर ने मिड ऑफ की दिशा में शॉट लगाया। ये थोड़ा रिस्‍की सिंगल था। डोनाल्‍ड ने क्‍लूजनर की रन की कॉल नहीं सुनी और बेहद नाटकीय तरीके से वो रनआउट हो गए। फाइनल में पहुंचने के बाद ऑस्‍ट्रेलिया विश्‍व कप जीतने में भी कामयाब रहा था।

लांस क्‍लूजनर ने कहा, “मुझे जीवन भर इस बात का मलाल रहेगा कि मैंने उस मैच के दौरान वो सब किया जो मुझे करना चाहिए था, लेकिन मैच में बचा बेहद आसान काम मैं नहीं कर पाया।’