level of IPL is equals to world cup : says hardus viljoen
Hardus Viljoen @ IANS

इंडियन टी20 लीग में फ्रेंजाइजी टीम पंजाब के लिए खेलने वाले गेंदबाज हार्डस विल्जोएन ने टूर्नामेंट को विश्व कप के स्तर का बताया है। उनका मानना है कि आईपीएल के रूप में वह एक ऐसे टूर्नामेंट में खेल रहे हैं जिसका स्तर विश्व कप के समान है।

वह विश्व भर की तमाम टी-20 और टी-10 लीग में खेलने के बाद आईपीएल में आए हैं। उनका मानना है कि आईपीएल बाकी लीगों से अलग है और इसका स्तर विश्व कप के स्तर के बराबर है।  हार्डस ने आईएएनएस से बात करते हुए अन्य लीगों से आईपीएल की तुलना के सवाल के जवाब में कहा, “आईपीएल का स्तर विश्व कप के सामन है। यहां आपको विश्व के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका मिलता है। यह खिलाड़ियों के लिए बेहतरीन मंच है, जहां वह अंतर्राष्ट्रीय अनुभव हासिल कर सकते हैं क्योंकि इसमें अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का जायका होता है।”

पढ़ें:- Video: मुंबई के पास हिसाब बराबर करने का मौका

हार्डस ने जनवरी 2016 में जोहान्सबर्ग टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था लेकिन इसके बाद वह कभी राष्ट्रीय टीम में नहीं लौटे। उस मैच की पहली पारी में उन्होंने 15 ओवर्स में 79 रन देकर एक विकेट लिया था लेकिन दूसरी पारी में चार ओवर्स में 15 रन देकर सफलता हासिल नहीं कर पाए थे।

राष्ट्रीय टीम के दोबारा न खेल पाने के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “हर खिलाड़ी का सपना अपने देश के लिए खेलने का होता है, लेकिन इसके लिए मौके भी मिलने चाहिए। आपको एक मैच के बाद हटा दिया जाता है तो अपनी प्रतिभा दिखाने का सही मौका नहीं मिलता है।

पढ़ें:- धोनी बोले-हरभजन, ताहिर पुरानी शराब की तरह हैं

हार्डस आईपीएल में पंजाब के लिए खेल रहे हैं। उन्होंने अपने कप्तान रविचंद्रन अश्विन की तारीफ की और कहा कि अश्विन जैसा कप्तान हर टीम चाहती हैं क्योंकि वह खिलाड़ियों को समझते हैं और खिलाड़ी भी उन्हें अच्छे से समझते हैं।

उन्होंने कहा, “मैं काफी खिलाड़ियों के साथ क्रिकेट खेला हूं। उनमें से मैं कहूंगा कि डैरेन सैमी शायद सबसे अच्छे कप्तान (पाकिस्तान सुपर लीग में) थे, जिनकी कप्तानी में मैं खेला हूं। अश्विन भी उसी श्रेणी में आते हैं। वह जानते हैं कि उन्हें मेरे से क्या मिल सकता है और मैं जानता हूं कि मुझे अलग-अलग परिस्थतियों में क्या करना है। इससे काम आसान हो जाता है। जब आपका कप्तान आप पर भरोसा करता है तो काम आसान हो जाता है। यही अश्विन करते हैं।”

हार्डस का मानना है कि टी-20 में गेंदबाज की सफलता में कप्तान का भी अहम योगदान होता है। वह कहते हैं, “निश्चित तौर पर। मेरा मानना है कि कप्तान हर टीम की सबसे बड़ी संपत्ति होता है। मैं यह बात हर उस इंसान से कहता हूं जो मुझसे यह सवाल पूछता है। अगर आप सफल टीमों को देखेंगे तो आपको पता चलेगा कि कप्तान जानता था कि उसे अपने खिलाड़ियों से क्या चाहिए और खिलाड़ी जानते हैं कि उनके कप्तान को उनसे क्या चाहिए। महान कप्तान जानता है कि वह अपने खिलाड़ियों से सर्वश्रेष्ठ कैसे निकलवाए।”