भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्‍लेबाज सौरव गांगुली का मानना है कि रिषभ पंत और श्रेयस अय्यर को अपनी 60-70 रनों की पारियों को शतक में तब्‍दील करना सीखना होगा. देश के लिए शतक लगाने का जो अहसास है वो उन्‍हें इस कीर्तिमान तक पहुंचने के बाद ही पता चल पाएगा.

पढ़ें:- दिल्‍ली कैपिटल्‍स ने सौरव गांगुली को लेकर स्थिति की साफ, ऑक्‍शन के दौरान ‘दादा’...

स्‍टार स्‍पोर्ट्स से बातचीत के दौरान गौतम गंभीर ने कहा, “रिषभ पंत को अपनी बल्‍लेबाजी में निरंतरता लाने की जरूरत है. वो सभी तीन फॉर्मेट में इन दिनों खेल रहा है. भले ही वो टेस्‍ट क्रिकेट नहीं खेल रहा हो, लेकिन वो स्‍क्‍वाड का हिस्‍सा है. यह साबित करता है कि टीम मैनेजमेंट का अब भी उनमें विश्‍वास है, लेकिन अब भी उन्‍हें अपने खेल में निरंतरता लानी होगी.”

गंभीर ने साफ किया कि उन्‍हें 60-70 रन की अपनी पारी को शतक में तब्‍दील करना होगा. यही वो चीज है जो महेंद्र सिंह धोनी अक्‍सर किया करते थे.

गौतम गंभीर ने साफ किया कि मध्‍यक्रम में श्रेयस अय्यर ने बेहद अच्‍छे से अपनी जगह नंबर-4 के लिए पक्‍की कर ली है. “अय्यर ने लंबे समय तक मौके का इंतजार किया. जब उन्‍हें मौका मिला तो उन्‍होंने इसे हाथों हाथ लिया. अय्यर को भी अपनी 60-70 रन की पारी को 100 में तब्‍दील करना सीखना होगा. यही वो चीज है जो उन्‍हें मध्‍यक्रम के अन्‍य बल्‍लेबाजों से अलग बना सकती है.”

पढ़ें:- इस महिला क्रिकेटर ने उड़ाया चहल की हाइट का मजाक, कहा- तुम तो….

“विराट कोहली, रोहित शर्मा और केएल राहुल यही काम कर पाने में सफल हैं, जिसे अब अय्यर को भी सीखना होगा. वो 3-4 अर्धशतक लगा चुके हैं. अब उन्‍हें शतक की जरूरत है. जब तक आप पहला शतक नहीं लगाते हो, आपको पता नहीं चलेगा‍ कि अपने देश के लिए शतक लगाने का अहसास कैसा होता है.”