Maharashtra Government wants MCA to either pay Rs 120-cr dues or vacate Wankhede Stadium
Wankhede Stadium (File Photo) @ BCCI

महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) को लंबित भुगतान और लीज को आगे बढ़ाने के लिए 120 करोड़ रुपये देने को कहा है और ऐसा नहीं होने पर उसे दक्षिण मुंबई में प्रतिष्ठित वानखेड़े स्टेडियम के परिसर को खाली करना होगा।

पढ़ें:- चेन्नई में नहीं 12 मई को हैदराबाद में होगा IPL का फाइनल

यह नोटिस मुंबई शहर के कलेक्टर शिवाजी जोंधाले ने 16 अप्रैल को जारी किया और इसमें कहा गया है कि अगर एमसीए अधिकारी उचित दस्तावेजों के साथ तीन मई को सुनवाई के लिए आने में नाकाम रहे जो स्टेडियम को कब्जे में लेने की कार्रवाई शुरू की जाएगी।

संपर्क करने पर जोंधाले ने कहा, ‘‘एमसीए ने लीज बढ़ाने के लिए आवेदन किया तब लंबित भुगतान का पता चला। उसकी प्रतिष्ठा को देखते हुए यह संघ के लिए मामूली रकम है। कोई अंतरिम बैठक नहीं होगी और ना ही क्रिकेट संस्था को और समय दिया जाएगा। तीन मई को बैठक के बाद ही भविष्य की कार्रवाई पर फैसला किया जाएगा।’’

पढ़ें:- कप्तान विलियमसन ने कहा, हैदराबाद को वार्नर, बेयरस्टो की कमी खलेगी

बार-बार प्रयास करने के बावजूद एमसीए की तदर्थ समिति के सदस्य प्रतिक्रिया के लिए उपलब्ध नहीं थे। वानखेड़े स्टेडियम की 43977.93 वर्ग मीटर जमीन को राज्य सरकार ने 50 साल के लिए एमसीए को लीज पर दिया था जो पिछले साल फरवरी में खत्म हुई।

यह स्टेडियम 1975 में बनाया था और 2011 विश्व कप से पहले इसका नवीनीकरण किया गया। इस स्टेडियम में कई यागदार मैचों का आयोजन किया गया और इसमें 2011 विश्व कप फाइनल भी शामिल है जिसमें भारत ने श्रीलंका को हराकर खिताब जीता था।

इस स्टेडियम में 33000 दर्शक आ सकते हैं और यह मुंबई की रणजी टीम और आईपीएल फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियन्स का घरेलू मैदान पर है। इसी स्टेडियम के अंदर भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) का मुख्यालय भी है।