Mahela Jayawardene: Its difficult to plan against us because different guys are actually performing
महेला जयवर्धने © AFP

इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन में मुंबई इंडियंस अकेली ऐसी टीम है जो किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं है। सीजन की शुरुआत में जब टीम के प्रमुख बल्लेबाज और कप्तान रोहित शर्मा खराब फॉर्म से जूझ रहे थे तो क्विंटन डी कॉक और हार्दिक पांड्या ने मैच जिताने की जिम्मेदारी संभाली। जसप्रीत बुमराह, लसिथ मलिंगा और युवा अल्जारी जोसेफ भी अलग अलग मुकाबलों में मैच विनर के तौर पर उभरे। मुंबई के कोच महेला जयवर्धने इसे टीम की सबसे बड़ी ताकत मानते हैं।

चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ होने वाले फाइनल मैच से पहले कोच जयवर्धने ने कहा, “ये ऐसा कुछ है जिसके बारे में हमने सीजन की शुरुआत में भी बात की थी। ये प्रमुख खिलाड़ियों के ऊपर से दबाव हटाता है, वर्ना वो मैच में दबाव के साथ उतरते हैं। जब आपके पास 6-7 खिलाड़ी होते हैं जो आपके लिए लड़ते हैं तो इससे आपको मैच जीतने के मौके मिलते हैं। हमने महसूस किया है कि ये ऐसा कुछ है जो इस तरह के टूर्नामेंट में जरूरी है। और घर पर या बाहर खेलते हुए, अलग अलग हालात, अलग खिलाड़ियों के अनुकूल होते हैं।”

पिछले सीजन सीएसके टीम के हर मैच में एक नया मैच विनर सामने आया था। इस ताकत के दम पर सीएसके ने ना केवल दो साल के बैन के बाद जबरदस्त वापसी की, बल्कि तीसरा आईपीएल खिताब भी जीता। जयवर्धने का भी मानना है कि अगर किसी टीम में कई मैच विनर खिलाड़ी हों तो उसके खिलाफ योजना बनाना मुश्किल होता है।

ये भी पढ़ें: ‘जानती थी कि अगर मैं आखिरी तक खेलती रही तो जीत हमारी होगी’

उन्होंने कहा, “एक और फैक्टर ये है कि विपक्षियों के लिए हमारे खिलाफ योजना बनाना या हमारे खेल का अनुमान लगाना मुश्किल होता है क्योंकि अलग अलग खिलाड़ी प्रदर्शन कर रहे हैं। हमारे सामने एक और मैच है जहां हमारे पास एक टीम है जो विभिन्न पहलुओं पर एक साथ प्रदर्शन करती है और स्थिति को नियंत्रित करती है। ये खिलाड़ी ऐसा करने में सफल रहे और अब एक और मुश्किल पार करनी बाकी है।”