कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण इस समय दुनिया भर में खेल की लगभग सभी प्रतियोगिताएं या तो स्थगित कर दी गई हैं या उन्हें रद्द कर दिया गया है. टोक्यो ओलंपिक को एक साल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है जबकि आईपीएल के 13वें एडिशन को अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया है. ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर-नवंबर में आयोजित होने वाले आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप पर भी कोरोनावायरस के काले बादल मंडरा रहे हैं.

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान मार्क टेलर का मानना है कि कोरोना वायरस महामारी के कारण इस साल के टी20 विश्व कप के स्थगित होने से उसी समय भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के लुभावनी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलने का रास्ता साफ होगा.

टी-20 वर्ल्ड कप पर अनिश्चितता बरकरार 

ऑस्ट्रेलिया में इस साल 18 अक्टूबर से 15 नवंबर तक होने वाले टी20 विश्व कप को लेकर अनिश्चितता बरकरार है. कड़े नियमों के साथ ऑस्ट्रेलिया में हालांकि कुछ खेल दोबारा शुरू हो रहे हैं. टेलर ने कहा कि अगर आईपीएल होता है तो यात्रा करना खिलाड़ी की व्यक्तिगत जिम्मेदारी होगी और राष्ट्रीय बोर्ड की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी.

’15 टीमों का ऑस्ट्रेलिया आना मुश्किल’

टेलर ने चैनल नाइन स्पोर्ट्स से कहा, ‘मुझे लगता है कि यह सबसे संभावित स्थिति है (टी20 विश्व कप का स्थगित होना) क्योंकि हम इस समय जिन हालात में जी रहे हैं उनमें अक्टूबर और नवंबर के बीच में 15 टीमों का ऑस्ट्रेलिया आना, सात प्रस्तावित स्थलों पर 45 मैच खेलना, देश में यात्रा करना बेहद मुश्किल होगा.’

उन्होंने कहा, ‘इससे पहले 14 दिन तक पृथक रहने से स्थिति और मुश्किल हो जाती हैं. पूरी संभावना है कि यह टूर्नामेंट नहीं हो पाएगा. इसलिए अगर आईसीसी टूर्नामेंट को स्थगित करने का फैसला करता है तो इससे बीसीसीआई के लिए रास्ते खुल जाएंगे कि वह कहे कि हम भारत में आईपीएल का आयोजन करा रहे हैं जिससे किसी देश में टीमों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने की जिम्मेदारी क्रिकेट बोर्ड की नहीं बल्कि व्यक्तिगत लोगों की होगी.’

तब बीसीसीआई को मिला जाएगा मौका 

इस पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा कि अगर टी20 विश्व कप पर आईपीएल को तरजीह दी जाती है तो ऑस्ट्रेलिया में होने वाली सीरीज के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को बीसीसीआई के साथ बातचीत करने का शानदार मौका मिल जाएगा.

उन्होंने कहा, ‘निश्चित तौर पर यह संभावना है. बेशक क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया टी20 विश्व कप की मेजबानी करना चाहता है लेकिन साथ ही भारत के साथ बातचीत कर रहा है कि अगर उसके खिलाड़ी आईपीएल के लिए वहां जा पाएं तो वे चाहेंगे कि भारत हमारी अगली गर्मियों में क्रिकेट दौरे पर ऑस्ट्रेलिया आए.’

भारतीय क्रिकेट टीम को अक्टूबर 2020 से जनवरी 2021 तक ऑस्ट्रेलिया का दौरा करना है जिसमें चार टेस्ट, तीन वनडे इंटरनेशनल और तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले जाएंगे. यह टेस्ट सीरीज विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा है.