Mark Wood hopes to end a ‘frustrating’ season with a telling performance against Australia
मार्क वुड (Getty images)

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीमित ओवर फॉर्मेट सीरीज के लिए इंग्लैंड टीम में लौटे तेज गेंदबाज मार्क वुड को उम्मीद है कि वो शानदार प्रदर्शन के साथ सीजन का अंत कर सकेंगे। वुड वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए इंग्लैंड के स्क्वाड का हिस्सा थे लेकिन उन्बहें एक ही मैच के लिए प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका मिला था।

शुक्रवार को शुरू होने वाली टी20 सीरीज से पहले वुड ने कहा, “जाहार है कि ये निराशाजनक है, आप वो खिलाड़ी नहीं बनना चाहते जिसे हर बार आसानी से ड्रॉप कर दिया जाता हो। आप बस कड़ी मेहनत करते रहेंगे। मैं रेड बॉल के साथ एक वॉबल सीम पर काम कर रहा हूं, ये ऐसा कुछ है जो स्वाभाविक तौर पर मेरे खेल का हिस्सा नहीं है लेकिन मैं सुधार करने की कोशिश कर रहा हूं।”

उन्होंने कहा, “मैं आखिरी मैच के बाद सवाल पूछा था कि टीम में वापसी करने के लिए मुझे कहां सुधार करना होगा और उन्होंने कहा कि वो मेरे ट्रेनिंग अनुशासन से खुश हैं। बात 50-50 प्रतिशत की थी और उन्होंने मुझसे विपरीत दिशा में जाने का फैसला किया। टीम में आने से पहले मैंने सोचा था कि मुझे ज्यादा मैच खेलने को मिलेंगे लेकिन ऐसा हुआ नहीं।”

 

टेस्ट टीम में जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्रॉड और जोफ्रा आर्चर के बीच प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने के लिए संघर्ष करने वाले वुड ने कहा, “लड़के अच्छा खेले और मेरे लिए टीम में जगह बना पाना मुश्किल था। इसलिए मैंने टीम का अच्छा साथी बनने की पूरी कोशिश की, ना कि बाहर बैठकर दुखी होने में अपनी ऊर्जा बर्बाद की।”

वुड को उम्मीद है टी20 टीम की प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने के लिए उन्हें टेस्ट जितना संघर्ष नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने कहा, “मैं टीम में जगह पाने का हकदार हूं, ये साबित करने का दबाव मुझ पर रहेगा क्योंकि हमारे पास कई अच्छे गेंदबाज हैं। अगर मुझे मौका मिलता है तो मैं अपनी काबिलियत साबित करने की कोशिश करूंगा।”

इंग्लिश गेंदबाज ने कहा, “कल जब हम मैदान पर गए थे तब ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज हर कोने पर शॉट लगा रहे थे। मुझे नहीं पता कि वो जानबूझकर हमें डराने के लिए ऐसा कर रहे थे या नहीं लेकिन मैं उन्हें रोकने की पूरी कोशिश करूंगा और ऑस्ट्रेलिया को जीतने नहीं दूंगा।”