Mark Wood: I’m not going to believe what they say until Al Jazeera bring out anything concrete
Mark Wood © Getty Images

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज मार्क वुड ने अल ज़जीरा चैनल के लगाए गए स्पॉट फिक्सिंग आरोपों को पूरी तरह बेबुनियाद बताया है। मार्क का कहना है कि जब तक चैनल कोई ठोस सबूत सामने नहीं लगाएगा, उनकी किसी भी बात पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेट बोर्ड भी इन आरोपों से इंकार कर चुके हैं।

टॉकस्पोर्ट से बातचीत में वुड ने कहा, “जब तक अल ज़जीरा कुछ कंकरीट सामने नहीं लाता, जहां वो किसी का नाम लेते हैं और कोई ठोस सबूत दिखाते हैं, मैं उनकी किसी भी बात का भरोसा नहीं करूंगा। वो चाहे जो कहते रहें लेकिन जब तक वो किसी का नाम नहीं लेते और उसके पीछे कोई सबूत नहीं दिखाते उनकी ये बातें उस लड़के जैसी हैं जो भेड़िया-भेड़िया चिल्लाता है। मुझे डर है कि जब वो कुछ ठोस सबूत सामने नहीं दिखाते, मैं उन्हें गंभीरता से नहीं ले सकता।”

वुड ने बताया कि इस मुद्दे पर उन्होंने अभी तक किसी भी साथी खिलाड़ी से बात नहीं की है। उन्हें भरोसा है कि इससे स्क्वाड का संतुलन नहीं बिगड़ेगा। वुड ने कहा, “मैं इस बारे में अभी तक किसी खिलाड़ी से बात नहीं की है। ये मेरे लिए नई खबर नहीं है। अगर वो किसी ठोस सबूत के साथ सामने आते या किसी का नाम लेते और कुछ साबित करते तो मैं कुछ परेशान जरूर होता। लेकिन इस वक्त वो लगातार आरोप लगा रहे हैं और उसके पीछे कुछ नहीं है इसलिए मैं ज्यादा ध्यान नहीं दे रहा हूं।”