Mashrafe Mortaza defends his decision to enter politics
Masrafe Bin Mortaza © Getty Images (File Photos)

बांग्लादेश के स्टार क्रिकेटर मशरेफ मुर्तजा ने राजनीति में उतरने के अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा कि ये ‘वक्त का तकाजा’ है। क्रिकेट के दीवाने बांग्लादेश में सुपरस्टार का दर्जा रखने वाले मुर्तजा के प्रशंसक उनके राजनीति में उतरने के फैसले से खासे खफा थे। उन्होंने 30 दिसंबर को होने वाला चुनाव अवामी लीग के टिकट पर लड़ने का फैसला किया है।

आवामी लीग पार्टी की प्रमुख और बांग्लादेश की प्रधानंमंत्री शेख हसीना के साथ मुर्तजा की एक तस्वीर काफी वायरल हो रही है। जिसे देखने के बाद क्रिकेटर के फैन दो हिस्सों में बंट गए। जिसका मुख्य कारण है कि इस साल बांग्लादेश में अवामी लीग के खिलाफ बड़ी रैलियां निकाली घई थी। जिसके बाद पार्टी के विरोधियों को जेल में डाल दिया और असंतोष को दबा दिया।

मुर्तजा ने कहा, “मुझे लगता है कि हर जागरूक और ईमानदार बांग्लादेशी को राजनीति में उतरना चाहिए। कई अलग अलग कारणों से लोग हिम्मत नहीं कर पाते लेकिन मुझे लगा कि दिमाग पर से ये पट्टी हटाने की जरूरत है और मैने खुद सियासत में उतरने का फैसला किया।” कुछ समय पहले प्रधानमंत्री शेख हसीना ने भी इस खबर की पुष्टि की थी और मुर्तजा के फैसले का स्वागत किया था।

मुर्तजा नौ दिसंबर से वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हो रही तीन मैचों की वनडे सीरीज में बांग्लादेश की कप्तानी भी करेंगे। क्रिकेट और राजनीति में भविष्य को लेकर मुर्तजा ने कहा, “मुझे नहीं पता कि विश्व कप के बाद आने वाले साढ़े चार सालों में मेरे लिए क्या छुपा है। इसलिए मैने समय का फायदा उठाया। मैने समय की आवाज सुनी क्योंकि मैं मानता हूं कि काम सही समय पर किया जाना चाहिए।”