Match against Pakistan in 2003 best memory apart from 2011 World Cup win says Sachin Tendulkar
Sachin Tendulkar@IANS

भारत और पाकिस्तान के बीच आईसीसी विश्व कप के मुकाबले हमेशा ही फैंस के लिए यादगार होते हैं। मुकाबले में खेलने वाले सभी खिलाड़ी भी इस मैच में अपना सर्वश्रेष्ठ देकर फैंस को यादगार जीत की खुशी देना चाहते हैं।

दोनों देशों के बीच विश्व कप में होने वाले मैच के क्या मायने होते हैं इस बात को क्रिकेट के भगवान से बेहतर कौन जान सकता है। भारत और पाकिस्तान के बीच विश्व कप में छह मैच खेले हैं जिसमें से सचिन तेंदुलकर ने पांच में हिस्सा लिया है। सचिन ने 1992, 1996, 1999, 2003, 2011 में विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच खेले हैं।

सचिन का कहना है कि 2011 में विश्व कप जीतने के बाद उनकी जिंदगी में 2003 विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ खेला गया मैच उनके पसंदीदा विश्व कप मैचों में से एक है। सचिन ने उस मैच में 98 रन की पारी खेली थी।

पढ़ें:- गांगुली- पाकिस्‍तान को हल्‍के में लेने की गलती नहीं करेगा भारत

सचिन ने आईएएनएस से कहा, “2011 में विश्व कप जीतने के बाद अगर कोई यादगार पल है तो वो है 2003 में पाकिस्तान के खिलाफ सेंचुरियन में खेला गया मैच। उस मैच को लेकर जो माहौल बना था और हम जिस तरह से खेले और जीते थे वो शानदार था। साथ ही हमने जिस तरह से उस जीत का जश्न मनाया था और उसके बाद हम टूर्नामेंट में जिस तरह से आगे बढ़े थे वो बेहतरीन था, इसमें कोई शक नहीं है, वो विशेष है।”

सचिन ने उस मैच में 75 गेंद पर 98 रनों की पारी खेली थी। सचिन ने उस मैच में बेहतरीन बल्लेबाजी की थी और वसीम अकरम, वकार यूनिस, शोएब अख्तर जैसे दिग्गज गेंदबाजों पर खूब रन बटोरे थे। सचिन को इस पारी के लिए मैन ऑफ द मैच मिला था।

पढ़ें:- भारत-पाकिस्तान मैच का मजा किरकिरा कर सकती है बारिश

सचिन के लिए हालांकि उस पुरस्कार से ज्यादा वो खुशी मायने रखती है जो उन्होंने प्रशंसकों के चेहरे पर देखी थी। सचिन ने कहा, “पूरा देश जश्न मना रहा था और मुझे याद है कि उस समय मेरे कई दोस्त मुझे फोन कर रहे थे और पटाखों, प्रशंसकों की आवाजें सुना रहे थे। हर कोई जश्न मना रहा था।”