Matthew Hayden: Tim Paine and company should  play tough rather than worry about their brand
Matthew Hayden (File Photo) @ Getty Images

बॉल टैंपरिंग विवाद के बाद लगातार बुरे दौर से जूझ रही ऑस्‍ट्रेलिया की टीम में नई ऊर्जा भरने के लिए पूर्व ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान माइकल क्‍लार्क ने हाल ही में कहा कि हमें टफ क्रिकेट खेलना होगा, भले ही हम इसे पसंद करें या नहीं करें, हमारे खून में ऐसा क्रिकेट खेलना ही है। अगर हम इससे दूर जाने की कोशिश करेंगे तो हो सकता है कि दुनिया में लोग हमें पसंद करें लेकिन हम मैच नहीं जीत पाएंगे।

क्‍लार्क की बात को दोहराते हुए मैथ्‍यू हेडन ने कप्‍तान टिम पेन को सलाह दी कि वो ज्‍यादा चिंता किए बिना भारत के खिलाफ मजबूती से क्रिकेट खेलें। सिडनी मॉर्निंग हेराल्‍ड से बातचीत के दौरान मैथ्‍यू हेडन ने कहा, “ऑस्‍ट्रेलियन होने के नाते हमारी सच्‍चाई क्‍या है। जब भी हम मैदान में उतरते हैं तो अपना बेस्‍ट क्रिकेट खेलते हैं। लोगों की नजर में फाइट का मतलब मैदान पर मौखिक झगड़े, नस्‍लभेदी व धार्मिक टिप्‍पणी हो सकता है। हमारे लिए इसका वो मतलब नहीं है।”

हेडन ने कहा, “हमारे लिए इसका मतलब मैदान पर हमारी बॉडी लैंगवेज से है। जब भी हम मैदान पर जाते हैं तो हमारे लिए हमारा देश पहले होता है। हम मैदान पर जीतने की कोशिश करते हैं। मुझे लगता है कि माइकल क्‍लार्क भी यही कहने की कोशिश कर रहे हैं। हमारे लिए इसका मतलब प्रतिस्‍पर्धा से है।”

हेडन ने कहा कि एक पूर्व खिलाड़़ी की तरह नहीं बल्कि एक फैन की तरह मेरी उम्‍मीदें टीम से हैं कि मैदान में जाओ और जीत कर आओ। भले ही महिला या पुरुष टीम हो मैदान पर खिलाड़ी का माइंडसेट अपना सर्वश्रेष्‍ठ खेल दिखाने का होना चाहिए

पूछा गया कि क्‍या ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाड़ियों को अपने ब्रॉंड ऑफ क्रिकेट पर फोकस करना चाहिए। इसपर हेडन ने कहा ब्रॉंड काफी डरावना शब्‍द है। इस शब्‍द का प्रयोग कॉर्पोरेट जगत में होता है। हम यहां क्रिकेट की बात कर रहे हैं। हमारे लिए इसका मतलब है कि खेल को मजबूती के साथ निष्‍पक्षता से खेलो। हम ऑस्‍ट्रेलिया में क्‍लब क्रिकेट और किड्स क्रिकेट (बचपन में खेलना) में खेल भावना के साथ खेलते है।