MCC clear its stand on 360-degree bowling action
360 degree bowling action © Twitter

सी के नायडू अंडर-23 टूर्नामेंट के दौरान उत्‍तर प्रदेश के गेंदबाज शिवा सिंह ने गेंद फेंकने से ठीक पहले 360 डिग्री टर्न लिया। कोलकाता में ये मैच बंगाल और उत्‍तर प्रदेश के बीच खेला गया। अंपायर ने इस गेंद को डेड बॉल करार दिया। पूर्व दिग्‍गज बिशन सिंह बेदी ने इस अटपटे गेंदबाजी एक्‍शन वाले वीडियो को अपने ट्विटर पर शेयर किया। जिसके बाद ये वीडियो वायरल हो गया।

अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में नियम बनाने वाली संस्‍था मेरीलेबोन क्रिकेट क्लब (MCC) की तरफ से इस एक्‍शन पर प्रतिक्रिया आई है। लॉर्ड्स वेबसाइट में छपी रिपोर्ट में बताया गया, “क्रिकेट के नियमों में गेंदबाजी के रनअप को लेकर कुछ भी नहीं कहा गया है। नियम 21.1 कहता है कि गेंदबाज अपने तरीके से गेंद डाल सकता है। नियम में ये नहीं बताया गया है कि गेंदबाज का अलग तरीके से गेंद डालने के पीछे इरादा क्‍या है।”

कानून में साफ बताया गया है कि अगर गेंदबाजी एक्‍शन बल्‍लेबाज की एकाग्रता को भंग करता है तो ऑन फील्‍ड अंपायर के पास ये अधिकार है कि वो इसे डेड बॉल करार दे सकता है। अंपायर के पास ये अधिकार है कि वो इस बात का निर्णय ले कि गेंदबाजी एक्‍शन बल्‍लेबाज की एकाग्रता को भंग करने के लिए बदला गया है या नहीं।

कहा गया कि अगर आमतौर पर गेंदबाज 360 डिग्री घूमकर ही गेंद फेंकता है और इसके बावजूद भी वो बीच में कुछ अलग कर बल्‍लेबाज का ध्‍यान भटकाने की कोशिश करता है तो भी उस गेंद को अंपायर डेड बॉल करार दे सकता है। बल्‍लेबाज खुद भी गेंद खेलने की जगह हट सकता है। नियम 41.1 के तहत इस स्थिति में अंपायर टीम पर पांच रन की पेनल्‍टी लगा सकता है।