MD Thirsuhkamini © IANS (File Photo)
MD Thirsuhkamini © IANS (File Photo)

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की खिलाड़ी एम.डी थिरूशकामिनी फील्ड में बाधा उत्पन्न करने के लिए आउट दी जानें वाली पहली महिला खिलाड़ी बन गई हैं। इससे पहले किसी भी महिला खिलाड़ी को फील्ड में बाधा उत्पन्न करने के लिए आउट नहीं दिया गया था। यह वाकया भारतीय महिला टीम और वेस्टइंडीज महिला टीम के बीच खेले जा रहे दूसरे वनडे मैच के दौरान हुआ। हालांकि पुरूष क्रिकेट में यह पहले भी कई बार हो चुका है। लेन हटन(टेस्ट), रमीज राजा, मोहिंदर अमरनाथ, इंजमाम उल हक, मोहम्मद हफीज, अनवर अली और बेन स्टोक्स( सभी वनडे) फील्ड में बाधा डालने के लिए आउट दिये जा चुके हैं।

इससे पहले वेस्टइंडीज की महिला टीम की खिलाड़ी डेंड्रा डॉटिन ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 63 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली और वेस्टइंडीज का स्कोर 153 पहुंचाया। डॉटिन के अलावा वेस्टइंडीज के लिए कोई भी बल्लेबाज विकेट पर नहीं टिक सकी। भारत के लिए तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी और एकता बिष्ट ने शानदार गेंदबाजी की। दोनों ने 2-2 विकेट चटकाए। एक तरफ जहां भारतीय गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की तो बल्लेबाजी में उनके अच्छी शुरूआत नहीं मिली और भारत ने दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से थिरूशकामिनी के रूप में अपना पहला विकेट गंवाया। [Also Read: मैदान पर भिड़े भारतीय क्रिकेटर]

इससे पहले भारतीय टीम की कप्तान मिथाली राज ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया। भारतीय गेंदबाजों ने वेस्टइंडीज महिला टीम को पहले 153 रनों के स्कोर पर रोक दिया। खबर लिखे जानें तक भारतीय महिला टीम इस मैच को जीतने से सिर्फ 30 रन दूर थी जबकि उसके 7 विकेट शेष हैं। भारत के लिए स्मृति मंधाना ने 44 रनों की पारी खेली।