×

पूर्व भारतीय कप्तान नारी कॉन्ट्रैक्टर के सिर से हटाई गई 60 साल पहले लगी मेटल प्लेट

1962 के दौरे पर बारबाडोस में हुए मैच के दौरान चार्ली ग्रिफिथ की बाउंसर सिर के पिछले हिस्से पर लगने के बाद नारी कॉन्ट्रैक्टर के सिर में मेटल प्लेट लगाई गई थी

डॉक्टरों ने भारत के पूर्व क्रिकेट कप्तान नारी कॉन्ट्रैक्टर (Nari Contractor) की खोपड़ी से उस मेटल प्लेट को हटा दिया है जो 60 साल बाद इसे वेस्टइंडीज के चार्ली ग्रिफिथ द्वारा एक घातक बाउंसर से घायल होने के बाद उनके सिर में लगाई गई था.

1962 के दौरे पर बारबाडोस में हुए मैच के दौरान तेज गेंदबाज का सामना करने के दौरान गेंद उनके सिर के पिछले हिस्से पर लगने के बाद कॉन्ट्रैक्टर को गंभीर चोट आई है थी जिसके बाद उनका अंतरराष्ट्रीय करियर का समय से पहले खत्म हो गया. उसी साल टाइटेनियम प्लेट लगाने के अलावा कॉन्ट्रैक्टर ने कई ऑपरेशन करवाए थे.

उनके बेटे होशेदार कॉन्ट्रैक्टर ने एएफपी को बताया कि 88 साल के पूर्व कप्तान बुधवार को मुंबई के एक अस्पताल में प्रत्यारोपण के बाद ठीक हो रहे थे.

उन्होंने कहा, “एक परिवार के रूप में, हमारी चिंता इस बात को लेकर थी कि वो इस उम्र में पोस्ट-ऑप को कैसे संभाल पाएंगे. लेकिन वो बिल्कुल ठीक है और सक्रिय हैं, डॉक्टरों डॉ हर्षद पारेख और डॉ अनिल टिबरेवाला ने बहुत अच्छा काम किया है.”

उनके बेटे ने कहा कि ठेकेदार अपने सिर के उस हिस्से की त्वचा खो रहे थे जहां प्लेट थी इसलिए उन्होंने इसे हटाने का फैसला किया.

अपनी गंभीर चोट के अलावा, कॉन्ट्रैक्टर 1959 में लॉर्ड्स में इंग्लैंड के खिलाफ 81 रन की पारी खेलने के लिए भी मशहूर हैं जिस दौरान ब्रायन स्टैथम की गेंद ने उनकी दो पसलियों को तोड़ दिया था.

बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज ने 2009 के एक इंटरव्यू में कहा था कि जब वो बारबाडोस में घायल हुए थे तो वो “किसी के पवेलियन की एक खिड़की खोलने” की वजह से भ्रमित हो गए थे.

उस समय वेस्ट इंडीज के कप्तान फ्रैंक वॉरेल, उनके कई साथियों और भारतीय खिलाड़ियों ने रक्तदान किया क्योंकि डॉक्टरों कॉन्ट्रैक्टर की जिंदगी बचाने के लिए संघर्ष कर रहे थे. गौरतलब है कि उस समय बल्लेबाज ने हेलमेट नहीं पहना था.

कॉन्ट्रैक्टर ने डीएनए अखबार को बताया था कि, “उस समय कोई साइट स्क्रीन नहीं थी और मेरी 100 प्रतिशत एकाग्रता उस गेंद पर नहीं थी. मैंने गेंद के मुझे हिट करने से कुछ ही इंच पहले उसे देखा था, लेकिन ये सच नहीं है कि मैं झुक गया था.”

trending this week