माइकल क्लार्क © Getty Images
माइकल क्लार्क © Getty Images

सिडनी | आस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क का मानना है कि वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों को दुनिया के टी-20 लीग की बजाय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अधिक प्राथमिकता देनी चाहिए। समाचार एजेंसी सीएमसी के अनुसार, वेस्टइंडीज के अनेक खिलाड़ी इस समय जारी आस्ट्रेलियाई टी-20 टूर्नामेंट बिग बैश लीग (बीबीएल) की विभिन्न टीमों के लिए खेल रहे हैं, जबकि इसी बीच कैरेबियाई टीम को आस्ट्रेलिया के साथ टेस्ट श्रृंखला भी खेलनी है। इसी वर्ष अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह चुके क्लार्क ने शनिवार को कहा, “मेरे खयाल से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को प्राथमिकता दी जानी चाहिए। टी-20 टूर्नामेंट भी अहम हैं और दर्शकों के लिए बेहद रोचक हैं, लेकिन मेरे खयाल से अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपने देश का प्रतिनिधित्व करने से अच्छा कुछ भी नहीं।”

गौरतलब है कि धुरंधर कैरेबियाई बल्लेबाज क्रिस गेल कई वर्षो से वेस्टइंडीज टेस्ट टीम से बाहर चल रहे हैं। ये भी पढ़े: इंग्लैंड के खिलाफ वापसी करने को तैयार डेल स्टेन

क्लार्क ने कहा, “यहां बीबीएल में जो कैरेबियाई खिलाड़ी खेल रहे हैं मेरे खयाल से उनके लिए वेस्टइंडीज टेस्ट टीम का हिस्सा न होना निराशाजनक होगा। यहां खेल रहे कई कैरेबियाई खिलाड़ी ऐसे हैं, जो वेस्टइंडीज टेस्ट टीम के प्रबल दावेदार हैं।”

अनुभवहीन युवा खिलाड़ियों वाली कैरेबियाई टीम को होबार्ट में हुए पहले टेस्ट मैच में आस्ट्रेलिया ने तीन दिन में ही 212 रनों से मात दे दी थी। ये भी पढ़े:क्रिस गेल के गोल्डेन बैट पर बवाल

वेस्टइंडीज टीम अब 26 दिसंबर से मेलबर्न क्रिकेट मैदान पर आस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरा टेस्ट खेलने उतरेगी, जबकि इस दौरान गेल, आंद्रे रसेल, डारेन सामी, ड्वायन ब्रावो, सैमुअल बद्री और लेंडल सिमंस जैसे दिग्गज कैरेबियाई खिलाड़ी बीबीएल की टीमों के लिए खेल रहे होंगे।