Michael Clarke believes If india couldn’t do well in T20, ODI, India will face clean sweep in Test
Michael Clarke @ Twitter

India vs Australia: 17 नवंबर से शुरू हो रही वनडे सीरीज में भारतीय टीम (Team India) जीत से ऑस्‍ट्रेलिया दोरे की शुरुआत (Gavaskar Border Trophy) करना चाहेगा। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क (Michael Clarke) ने कहा है कि अगर विराट कोहली (Virat Kohli) ऑस्ट्रेलिया छोड़ने से पहले वनडे और टी20 में टोन सेट (IND vs AUS) करने में असफल रहते हैं, तो भारतीय टीम को चार मैचों की टेस्ट सीरीज क्लीन स्वीप होना पड़ेगा।

विराट कोहली (Virat Kohli) तीन वनडे और तीन टी20 मैचों तथा चार मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच में भारत का नेतृत्व करने के बाद स्वदेश लौट आएंगे। कोहली पिता बनने वाले हैं और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने उन्हें पैटरनिटी लीव दी है। इसके चलते वह पहले टेस्ट के बाद भारत वापस लौट आएंगे।

माइकल क्लार्क (Michael Clarke) ने मंगलवार को स्काई स्पोटर्स रेडियो से कहा, विराट कोहली (Virat Kohli) को वनडे और टी-20 में फ्रंट से लीड करना होगा। कोहली केवल एक टेस्ट मैच खेलेंगे, लेकिन फिर भी वह टेस्ट मैचों के नतीजों पर असर डाल सकते हैं।

उन्होंने कहा, अगर भारतीय टीम वनडे और टी-20 में सफल नहीं हो पाती है तो टेस्ट में उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है और उन्हें 0-4 से हार का सामना करना पड़ सकता है।

माइकल क्लार्क (Michael Clarke) का मानना है कि भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आक्रामक होकर गेंदबाजी करने की जरूरत है क्योंकि कंगारूओं की बल्लेबाजी पिछली बार के मुकाबले में इस बार काफी मजबूत है।

पूर्व कप्तान ने कहा, वह (बुमराह) काफी तेज हैं, इसलिए मेरा मानना है कि उन्हें टोन सेट करने की जरूरत है और साथ ही उन्हें ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के सामने आक्रामक गेंदबाजी करने की जरूरत है।

इस बीच, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने साफ कर दिया है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) की क्रिकेट टीमों के बीच बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Gavaskar Border Trophy) के तहत होने वाली चार मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला एडिलेड में तय कार्यक्रम के अनुरूप ही होगा।