आईपीएल में बतौर कप्तान विरार कोहली (Virat Kohli) के करियर का अंत हो गया है. विराट कोहली के फैन्स और उनके आलोचकों को उनसे एक .यही शिकायत है कि वह 9 सालों तक रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) की कप्तानी करने के बावजूद एक भी मौके पर इस टीम को आईपीएल का एक भी खिताब नहीं दिला पाए.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) इस टूर्नामेंट की शुरुआत से ही अपना पहला खिताब जीतने का इंतजार कर रही है. इस बीच इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन (Michael Vaughan) ने कहा कि कोहली जब बतौर RCB कप्तान अपना आकलन करेंगे तो वह खुद को ‘फेल’ मानेंगे.

माइकल वॉन ने कहा कि विराट कोहली (Virat Kohli) कप्तान के तौर पर सीमित ओवरों के क्रिकेट में ‘अधिक सफलता नहीं हासिल कर सके’. कोहली ने आईपीएल के यूएई चरण की शुरुआत से पहले कहा था कि वह सत्र के अंत में आरसीबी की कप्तानी छोड़ देंगे.

उन्होंने इसके साथ ही टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup 2021) के बाद खेल के सबसे छोटे प्रारूप से राष्ट्रीय टीम की कप्तानी छोड़ने की भी घोषणा की है.

वॉन ने ‘क्रिकबज’ से कहा, ‘आपको ईमानदारी से मानना होगा कि राष्ट्रीय टीम और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के लिए एकदिवसीय क्रिकेट और टी20 में वह ज्यादा सफलता नहीं हासिल कर सके.’

उन्होंने कहा, ‘वह जिस तरह की प्रतिभा और टीम के साथ काम करते हैं. वह सबसे बेहतरीन में से एक हैं. आरसीबी की टीम पिछले कुछ वर्षों में बल्लेबाजी में बेहद मजबूत रही है.’

उन्होंने कहा, ‘इस साल (ग्लेन) मैक्सवेल, हर्षल पटेल और युजवेंद्र चहल के कौशल से उनके पास बल्लेबाजी का साथ देने वाली गेंदबाजी भी थी लेकिन फिर भी वे खिताब से दूर रह गए.’

आरसीबी के कप्तान के तौर पर कोहली के नौ साल का सफर सोमवार को एलिमिनेटर मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के खिलाफ शारजाह में चार विकेट की हार के साथ खत्म हुआ.

वॉन ने कहा, ‘आईपीएल में कोहली की कप्तानी की विरासत यही होगी कि वह खिताब नहीं जीत सकें. शीर्ष स्तर के खेल में आपको बाधा पार करनी होती है, चैम्पियन बनना होता है, खासकर तब, जब आप कोहली के स्तर के खिलाड़ी हों.’