पूर्व इंग्लिश कप्तान माइकल वॉन (Michael Vaughan) ने कुछ साल पहले एक एशियाई मूल के खिलाड़ी पर कथित नस्लीय टिप्पणी करने के लिए उन्हें बीबीसी (BBC) के एशेज कवरेज से हटाए जाने पर निराशा व्यक्त की है। वॉन ने कहा कि वो ‘समाधान का हिस्सा बनना चाहते हैं’ और क्रिकेट को “सभी के लिए एक अधिक स्वागत योग्य खेल” बनाने में मदद करना चाहते हैं।

उनकी टिप्पणी बीसीसीआई द्वारा बुधवार को पुष्टि किए जाने के बाद आई है कि एशेज विजेता इंग्लैंड के कप्तान वॉन ऑस्ट्रेलिया में आने वाली सीरीज के लिए टीम में टेस्ट मैच का हिस्सा नहीं होंगे।

बीबीसी का फैसला ‘यॉर्कशायर’ की रिपोर्ट में नस्लवाद के दावों में वॉन का नाम आने के बाद आया। रफीक ने दावा किया है कि वॉन ने एशियाई मूल के खिलाड़ियों के एक समूह से कहा था कि क्लब में बहुत सारे खिलाड़ी हैं और अब उन्हें ‘यू लॉट’ के लिए कुछ करने की जरूरत है।

वॉन ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों का खंडन करते हुए बुधवार शाम को सोशल मीडिया के जरिए बीबीसी के फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने सोशल मीडिया पर कहा, “एशेज पर टीएमएस (बीबीसी टेस्ट मैच स्पेशल) के लिए कमेंट्री नहीं करने से बहुत निराश हूं और महान सहयोगियों और दोस्तों के साथ काम करने से चूक जाऊंगा, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में फॉक्स क्रिकेट के लिए माइक के पीछे रहने की उम्मीद कर रहा हूं।”

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “क्रिकेट का सामना करने वाले मुद्दे व्यक्तिगत मामले से बड़े हैं और मैं समाधान का हिस्सा बनना चाहता हूं। जैसे कि सुनना, खुद को शिक्षित करना और सभी के लिए एक स्वागत योग्य खेल बनाने में मदद करना।”

इंग्लैंड के लेग स्पिनर आदिल राशिद और पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज राणा नावेद-उल-हसन ने कहा कि उन्होंने टिप्पणी सुनी, जबकि समूह के चौथे खिलाड़ी अजमल शहजाद ने कहा कि उन्हें इस कथित घटना के बारे में कुछ याद नहीं है।

वॉन ने अपने कॉलम में लिखा कि वो टिप्पणी करने से “पूरी तरह और स्पष्ट रूप से इनकार करते हैं” और उन्होंने जोर देकर कहा कि वो नस्लवादी नहीं हैं। उन्होंने लिखा कि, “मैं स्पष्ट रूप से अजीम रफीक द्वारा मेरे लिए निकले शब्दों को कहने से इनकार करता हूं।