Michael Vaughan supports Dominic Sibley who’s facing criticism for slow century
डॉमिनिक सिबले (Twitter)

वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में धीमी गति से शतकीय पारी खेलने पर आलोचना का सामना कर रहे डॉमिनिक सिबले का बचाव करते हुए पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने कहा कि इंग्लैंड को ऐसे ही बल्लेबाज की जरूरत है।

इस 24 साल के बल्लेबाज ने 312 गेंद में शतक पूरा किया जो नवंबर 2014 के बाद टेस्ट क्रिकेट का दूसरा सबसे धीमा शतक है। बांग्लादेश के तमीम इकबाल ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 312 गेंद में ही शतक लगाया था। सिबले ने 372 गेंद की पारी में 120 रन बनाए।

वॉन ने ‘विजडन’ से कहा, ‘‘इंग्लैंड की टीम का अनुसरण करना मजेदार है क्योंकि जब वे तेजी से रन बनाते हैं तब हम उनकी आलोचना करते है और अब सोशल मीडिया पर सिबले की धीमी बल्लेबाजी की आलोचना हो रही है। वो इंग्लैंड की इस टीम के लिए बिल्कुल सही बल्लेबाज हैं। वो ऐसे खिलाड़ी हैं जिसकी लंबे समय से इंग्लैंड को जरूरत थी। ऐसा बल्लेबाज जो क्रीज पर रूकना चाहता हो, अपने विकेट की कीमत समझे और लंबे समय तब बल्लेबाजी करे।’’

बारिश के कारण धुला इंग्लैंड-वेस्टइंडीज मैच का तीसरा दिन

इंग्लैंड के लिए 82 टेस्ट और 86 वनडे खेलने वाले वान ने कहा कि सिबले को अपने खेल में बदलाव नहीं करना चाहिए और इस युवा बल्लेबाज को तेजी से खेलने वाले बल्लेबाजों के लिए नींव रखने का श्रेय दिया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘सिबले टीम में बेन स्टोक्स, जोस बटलर और ओली पोप जैसे खुलकर खेलने वाले बल्लेबाज को मजबूत नींव प्रदान करते है। उन्हें अपने खेल के मुताबिक बल्लेबाजी करने के लिए काफी श्रेय दिया जाना चाहिए। मुझे नहीं लगता कि उन्हें बदलाव की जरूरत है।’’