Mickey Arthur: Centurion and Cape Town pitches “haven’t been good enough for Test cricket”
MICKY ARTHUR © Getty Images

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर आई पाकिस्तान टीम के कोच मिकी ऑर्थर यहां की पिचों से खास प्रभावित नहीं है। ऑर्थर ने दक्षिण अफ्रीकी पिचों को लेकर अपनी नाराजगी साफ जाहिर की और कहा कि सेंचुरियन-केपटाउन की पिचें टेस्ट क्रिकेट खेलने लायक नहीं हैं।

ये भी पढ़ें: केपटाउन टेस्‍ट: फाफ डु प्‍लेसिस के 9वें टेस्‍ट शतक से दक्षिण अफ्रीका मजबूत

केपटाउन टेस्ट के दूसरे दिन कोच ऑर्थर ने कहा, “मैं निराश हूं। मैं साल 2010 से क्रिकेट के लिए दक्षिण अफ्रीका नहीं आया हूं। सेंचुरियन के विकेट का स्तर और यहां (केपटाउन) का विकेट टेस्ट क्रिकेट के लायक नहीं है। मैं अब भी टेस्ट क्रिकेट में कड़े मुकाबले में विश्वास रखता हूं लेकिन फिर, हम अपने घर पर नहीं हैं तो हम कुछ ज्यादा नहीं कह सकते हैं। मुझे ये लगता है कि 2010 में जब मैंने दक्षिण अफ्रीका को कोच किया था, उसके मुकाबले अब यहां कि विकेट कहीं ज्यादा खराब हो गई है।”

गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीकी टीम के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने खुद माना है कि यहां कि पिचों पर बल्लेबाजी करना ना केवल विदेशी बल्कि उनके बल्लेबाजों के लिए भी मुश्किल है। हालांकि डु प्लेसिस ने केपटाउन टेस्ट में शानदार शतक जड़ा, जबकि पाक टीम इसी पिच पर 177 पर ढेर हो गई।

ये भी पढ़ें: फाफ डु प्लेसिस ने माना, दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों के लिए मुश्किल हैं घरेलू हालात

केपटाउन पिच के बारे में ऑर्थर ने कहा, “ये असमान है। मुझे लगता है कि आज दरार पर पड़ने वाली सात गेंदो को रोका गया और फीजियो दौड़कर मैदान पर आए और हम अभी केवल दूसरे दिन की ही बात कर रहे हैं। अगर ये चौथे या पांचवें दिन होता तो मैं समझता क्योंकि वो टेस्ट् क्रिकेट में होता है; विकेट धीरे धीरे खराब हो जाता है और ऐसा होता है लेकिन इससे आपकी पहली पारी को लॉटरी नहीं बनना चाहिए। मुझे लगता है कि यहां पहली पारी में बल्लेबाजी करना बेहद मुश्किल है।”