Mickey Arthur: Our young batting group now bat better outside the UAE
MICKY ARTHUR © Getty Images

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर पहुंची पाकिस्तान टीम के कोच मिकी ऑर्थर ने सीरीज शुरू होने से पहले कहा है कि उनके खिलाड़ी यूएई से बाहर और भी बेहतर बल्लेबाजी करते हैं। बता दें कि पाकिस्तान में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट ना हो पाने के चलते पिछले कुछ सालों से यूएई ही पाकिस्तान क्रिकेट टीम का घर बना हुआ है।

सबसे तेज 25 टेस्ट शतक लगाने के मामले में सचिन से आगे निकले कोहली

पाक टीम के कोच मिकी ऑर्थर ने कहा, “मैं अभी ये बयान देना चाहता हूं कि हमारे युवा खिलाड़ी यूएई में जितनी अच्छी बल्लेबाजी करते हैं, अब उससे बेहतर यूएई से बाहर करते हैं। हमारे पास कई प्रतिभाशाली युवा बल्लेबाज हैं। अब वो लेग स्टंप पर खड़े नहीं रहते। हमारे बल्लेबाज ऑफ स्टंप की ओर जाते हैं, वो उछाल, गति और स्विंग को कवर करते हैं। और वो इस तरह की स्थिति में अच्छा खेलते हैं।”

दक्षिण अफ्रीकी पिचें उछाल और गति के लिए मशहूर हैं और घरेलू स्थिति में कगीसो रबाडा, डेल स्टेन, वर्नान फिलेंडर जैसे खिलाड़ियों से सजे प्रोटियाज टीम के पेस अटैक को खेलना आसान नहीं होगा। हालांकि कोच ऑर्थर अपने बल्लेबाजों के प्रदर्शन को लेकर काफी सकारात्मक हैं।

हॉकी विश्व कप फाइनल देखने कलिंगा स्‍टेडियम जाएंगे तेंदुलकर

उन्होंने कहा, “दक्षिण अफ्रीका का गेंदबाजी अटैक बेहतरीन है, ये जानने के लिए आपको रॉकेट साइंटिस्ट होने की जरूरत नहीं है। हमें पता है कि ये असली चुनौती होने वाली है। हम एक बहुत उत्साहित युवा टीम के साथ यहां आए हैं। ये ऐसी टीम है जो एक साथ मिलकर खेलना शुरू कर रही है। हमने अविश्वसनीय सीमित फॉर्मेट क्रिकेट खेला है। हमारी वनडे टीम शानदार है और टी20 टीम भी बेहतरीन रही है लेकिन फिर भी हम एक टेस्ट टीम बनाने के लिए मेहनत कर रहे हैं। ये एक युवा लेकिन बेहद प्रतिभाशाली टेस्ट टीम है। हमें लगता है कि हमारे पास यहां एक अच्छा मौका है।”

350-400 रन बनाना हमारे लिए चुनौतीपूर्ण

दक्षिण अफ्रीका का गेंदबाजी अटैक उनकी ताकत है लेकिन बल्लेबाजी क्रम में अभी कमियां है। कुछ ऐसा ही हाल पाकिस्तान का भी है। ऑर्थर भी इस बात को अच्छे से जानते हैं। उनका मानना है कि गेंदबाजी अटैक को लड़ने का मौका देने के लिए बोर्ड पर 350-400 रन लगाने जरूरी है।

उन्होंने कहा, “वो एक अच्छी बैटिंग लाइन-अप हैं लेकिन हम एक बहुत अच्छी गेंदबाजी यूनिट हैं। इसलिए हमें लगता है कि हम यहां रास्ता बना सकते हैं। हमारा गेंदबाजी अटैक हर परिस्थिति में शानदार है। एक बात जो हमें पता है वो ये कि हम ऐसा गेंदबाजी अटैक हैं जो 20 विकेट ले सकता है। हमारे लिए 350-400 रन बनाना चुनौती है। अगर हम बोर्ड पर रन लगा देते हैं तो हमे पता है कि हम 20 विकेट निकाल सकते हैं और इन हालातों में गेंदबाजी कर सकते हैं।”