Micky Arthur: Our fielding was the massive difference between the two sides and that’s a real worry for me
मिकी ऑर्थर © Getty Images

विश्व कप से ठीक पहले पाकिस्तान टीम इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज में 0-4 से हार गई। इंग्लैंड दौरे पर पाकिस्तान टीम के प्रदर्शन ने नाराज कोच मिकी ऑर्थर ने खराब फील्डिंग पर हार की ठीकरा फोड़ा। आर्थर ने माना कि दोनों टीमों के बीच कई अंतर थे लेकिन फील्डिंग ने सबसे बड़ा अंतर पैदा किया।

हेडिंग्ले में खेले गए पांचवें वनडे के बाद कोच आर्थर ने कहा, “दोनों टीमों के बीच काफी बड़ा अंतर था। साउथम्पटन और नॉटिंघम में आखिरी पांच ओवर में खेल किसी की भी तरफ जा सकता था। हमने अच्छी प्रतिद्वंदिता की थी। एक जो सबसे बड़ा अंतर था, वो हमारी फील्डिंग थी और ये मेरे लिए असली चिंता की बात है।”

पाकिस्तान टीम क्रिकेट के इतिहास में खराब फील्डिंग के लिए बदनाम है। इसे मद्देनजर रखते हुए बोर्ड ने दो साल पहले नए फील्डिंग कोच स्टीव रिक्सन को नियुक्त किया था और आर्थर भी रिक्सन के काम से खुश हैं। उनका कहना है कि ज्यादा परेशानी रिक्सन की अगुवाई में ट्रेंनिंग ना लेने वाले खिलाड़ियों के स्क्वाड में शामिल होने से हुई।

बेटी के निधन के बाद इंग्लैंड दौरे से लौटेंगे आसिफ अली

पाकिस्तानी कोच ने कहा, “रिक्सन ने हमारे लिए शानदार काम किया है और ग्रांट ब्रैडबर्न बेहतरीन काम कर रहे हैं। फील्डिंग मैदान पर जाकर काम पूरा करने के रवैए पर निर्भर करती है। हमारे लड़कों का रवैया पूरी सीरीज और पिछले साल में शानदार रहा है। उन्हें पता है कि कहां कमी है और वो इससे खुश नहीं हैं।”

आर्थर ने आगे कहा, “हम इसे लेकर (फील्डिंग) में बहुत प्रयास कर रहे हैं लेकिन फिलहाल हमें अपनी पूरे प्रयास का ईनाम नहीं मिल रहा है। हम लगातार प्रयास करते रहेंगे ताकि हम गति पकड़ सकें क्योंकि हमारे पास कुछ नए और युवा खिलाड़ी हैं जो कि उस रूटीन का हिस्सा नहीं थे, जिसे हमने अपने सर्वश्रेष्ठ प्रयास से तैयार किया था। इसलिए हम चीजों को एक जुटकर जल्द से जल्द गति में लाने का प्रयास कर रहे हैं।”