Mike Atherton says Ben Stokes has Suffered enough Punishment
Ben Stokes © AFP

ब्रिस्‍टल झगड़े में अदालत ने इंग्‍लैंड के स्‍टार ऑलराउंडर बेन स्‍टोक्‍स को निर्दोष पाया है। ऐसे में उनके हमवतन पूर्व क्रिकेटरों में इस बात पर मतभेद है कि उन्‍हें सजा दी जानी चाहिए या नहीं।

रॉबिन उथप्‍पा ने एमएस धोनी को बताया अपना पसंदीदा कप्‍तान
रॉबिन उथप्‍पा ने एमएस धोनी को बताया अपना पसंदीदा कप्‍तान

पिछले साल सितंबर में वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे इंटरनेशनल मैच खेलने के घंटों बाद स्टोक्स पर ब्रिस्टल में झगड़े के आरोप लगे थे।

न्यूजीलैंड में जन्में 27 साल के इस हरफनमौला से हालांकि क्रिकेट अनुशासन आयोग (सीडीसी) की आंतरिक अनुशासनात्मक पूछताछ की जाएगी। डर्बीशॉयर के पूर्व बल्लेबाज और वकील टिम ओगॉर्मन इस जांच आयोग की अध्यक्षता करेंगे। स्टोक्स के टीम के साथी एलेक्स हेल्स को भी इस जांच का सामना करना होगा।

इंग्लैंड के दो पूर्व कप्तान माइक आथर्टन और नासिर हुसैन उन्हें आगे सजा दिए जाने पर एकमत नहीं हैं।

इंग्लैंड के लिए 115 मैच खेलने वाले आथर्टन ने कहा, ‘ अदालत के फैसले में निर्दोष करार दिये जाने के बाद आगे उसे कोई सजा नहीं दी जानी चाहिए।’

आथर्टन का मानना है कि आदर्श के तौर पर देखे जाने वाले से ऐसे बर्ताव की उम्मीद नहीं की जाती।

इंग्लैंड के एक अन्य पूर्व कप्तान नासिर हुसैन आथर्टन से इत्तेफाक नहीं रखते, उन्होंने कहा कि सीसीटीवी पर जो फुटेज दिखा उसे ईसीबी को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।