misbah ul haq reacts after getting responsibility of head coach and selector
Misbah-ul-Haq (File Photo) @ AFP

पाकिस्तान के नवनियुक्त मुख्य कोच मिसबाह उल हक ने जोर देते हुए कहा है कि टीम की ड्रेसिंग रूम संस्कृति में पूर्ण बदलाव की जरूरत है और देश के क्रिकेट ढांचे में आमूलचूल बदलाव में समय लगेगा। पाकिस्तान के सबसे सफल टेस्ट कप्तान मिसबाह को मुख्य चयनकर्ता की भूमिका भी सौंपी गई है।

पढ़ें:- पाकिस्‍तान में क्रिकेट खेलने को लेकर श्रीलंका की टीम में बोर्ड के खिलाफ बगावत

मिसबाह ने कहा, ‘‘एक कोच और नेतृत्वकर्ता के रूप में कोई भी यही चाहता है कि उसके पास ऐसी टीम हो जो मैच में तुरंत दबदबा बनाए और विरोधी टीम को दबाव में डाले। लेकिन यह आदर्श स्थिति होती है। वास्तविक जीवन में आपको उपलब्ध खिलाड़ियों के आधार पर रणनीति बनानी होती है, मैं भी ऐसा ही करूंगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘बेशक अंत में लक्ष्य यही होता है कि आपके पास बेहद मजबूत टीम हो लेकिन हमें शुरुआत उसी के साथ करनी होती है जो हमारे पास उपलब्ध होता है। क्रिकेट ढांचे में आमूलचूल बदलाव में समय लगेगा।’’

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने मिसबाह के अलावा पूर्व तेज गेंदबाज वकार यूनिस को तीन साल के लिए गेंदबाजी कोच नियुक्त किया है।

बोर्ड ने पाकिस्तान सुपर लीग के आगामी सत्र के दौरान भी मिसबाह को कोच की भूमिका निभाने को कहा है और उन्हें वही वेतन मिलेगा जो पिछले कोच मिकी आर्थर को मिल रहा था। मिसबाह को प्रति माह 18000 डालर का भुगतान किए जाने की उम्मीद है।

पढ़ें:- भज्‍जी की हैट्रिक पर गिलक्रिस्‍ट ने उठाए सवाल, मिला करारा जवाब

उन्होंने कहा, ‘‘मैं चाहता हूं कि हमारे क्रिकेटर समझदारी से और निडर होकर खेलें। मुझे पता है कि इसके लिए ड्रेसिंग रूम की संस्कृति में बदलाव की जरूरत है लेकिन अगर हमें शीर्ष स्तर पर लगातार प्रतिस्पर्धा पेश करनी है तो आधुनिक समय की इन जरूरतों को आत्मसात करना होगा।’’