Mitchell McClenaghan: Jasprit Bumrah is class bowler, who can move ball at great pace

आईपीएल से टी20 फॉर्मेट में धमाल मचाने वाले जसप्रीत बुमराह ने वनडे और फिर टेस्ट में भी अपने आप को अच्छा गेंदबाज साबित किया है। टीम इंडिया के साथ इंग्लैंड दौरे पर गए बुमराह हालांकि पहले दोनों मैचों में नहीं खेले हैं लेकिन खबर है कि नॉटिंघम टेस्ट में बुमराह प्लेइंग इलेवन का हिस्सा बन सकते हैं। मुंबई इंडियंस में बुमराह के साथी और न्यूजीलैंड क्रिकेटर मिचेल मैक्लेनाघन का कहना है बुमराह शानदार तेज गेंदबाज हैं, जिसके पास गति और स्विंग दोनो हैं।

मैक्लेनाघन ने कहा, “बुमराह के साथ चार साल बिताने, उसे नेट में गेंदबाजी करते देखने और उसके बाद जो प्रतिभा है उसे देखने के बाद ये कोई सवाल नहीं था कि वो टेस्ट क्रिकेट खेलेगा या नहीं, सवाल ये था कि वो कितने टेस्ट मैच खेलेगा? बुमराह एक शानदार, शांत और सीधा खिलाड़ी है।”

उन्होंने आगे कहा, “मुझे नहीं लगता लंबे फॉर्मेट में उसे कोई परेशानी होगी। जितना मैं उसे जानता हूं, लगातार टेस्ट खेलने के लिए वो हर वो काम करेगा जो वो कर सकता है। उसे ये फॉर्मेट बेहद पसंद है। मुश्किल काम लाल गेंद के फॉर्मेट से सफेद गेंद के फॉर्मेट में जाने में होगी, क्योंकि फॉर्मेट्स के बीच ज्यादा गैप नहीं होता है और दोनों फॉर्मेट में एकदम अलग तकनीकि की जरूरत होती है।”

कीवी तेज गेंदबाज मैक्लेनाघन ने मौजूदा भारतीय पेस अटैक की तारीफ की। उन्होंने कहा, “भारतीय तेज गेंदबाजों की ये पीढ़ी और उनके अटैक में जिस तरह का संतुलन है वो किसी भी स्थिति के लिए सही अटैक है। आमतौर पर ड्यूक गेंद बाकी गेंदो के मुकाबले ज्यादा स्विंग करती है और भारतीय अटैक गेंद को हवा में घुमा सकते हैं। टीम में उमेश यादव और बुमराह जैसे गेंदबाजों के होने से मदद मिलती है, जो कि गेंद को अच्छी गति के साथ घुमा सकते हैं।”

हार्दिक पांड्या ने अब तक अपनी आधी प्रतिभा का प्रदर्शन भी नहीं किया

मैक्लेनाघन मुंबई इंडियंस टीम में बुमराह के अलावा हार्दिक पांड्या के साथ भी काफी समय खेले हैं। उन्होंने आलोचना झेल रहे पांड्या का बचाव किया। मैक्लेनाघन ने कहा, “हार्दिक ने भारत के लिए अभी तक अच्छा प्रदर्शन किया है और कई अहम मैच बल्ले और गेंद के दम पर जिताए हैं, जैसा की आप एक नंबर वन ऑलराउंडर से उम्मीद करते हैं। एक बार फिर कहूंगा कि, हार्दिक के साथ समय बिताने और उसे अभ्यास करते हुए देखने के बाद मैं ये कहे बिना नहीं रह पा हूं कि अभी उसने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का आधा प्रदर्शन भी नहीं किया है, जो कि विपक्षी टीमों के लिए बेहद डरावना है। उसके जैसे खिलाड़ी का टीम में होना भारत के लिए बहुत अच्छा है।”